BIHAR NEWS: कटिहार डीएम की खास उपलब्धि, बाढ़ राहत कार्य से जुड़े लोगों का 100 फीसदी टीकाकरण संपन्न, प्रभावित क्षेत्र की जनता भी अब कोरोना से सुरक्षित

BIHAR NEWS: कटिहार डीएम की खास उपलब्धि, बाढ़ राहत कार्य से जुड़े लोगों का 100 फीसदी टीकाकरण संपन्न, प्रभावित क्षेत्र की जनता भी अब कोरोना से सुरक्षित

KATIHAR: बिहार ऐसा राज्य है, जिसके आधे हिस्से को हर साल बाढ़ और दूसरे हिस्से को सुखाड़ का दंश झेलना पड़ता है। इस संबंध में तारीफ करनी होगी मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की, जो लगातार ही दोनों प्रभावित क्षेत्रों के लिए राहत कार्य चलाते हैं और प्रभावित जनता की मदद करते हैं। इसी बीच इस साल कोरोना महामारी ने लोगों को दोहरा झटका दिया है। इस साल मॉनसून की अच्छी बारिश होने से समय से पहले बाढ़ भी आ गई है, जिसको लेकर पहले से ही सीएम ने डीएम सहित अधिकारियों को अलर्ट कर रखा था। सीएम ने सभी डीएम से वक्त से पहले बाढ़ के लिए राहत और बचाव कार्य सुनिश्चित करने के निर्देश जारी किए थे।

इसी निर्देश के आलोक में कटिहार ने खास उपलब्धि हासिल की है। कटिहार में बाढ़ राहत कार्य से जुड़े सभी सरकारी कर्मियों के साथ-साथ राहत कार्य से जुड़े सभी लोगों का सौ फ़ीसदी वैक्सीनेशन कार्य संपन्न करा लिया गया है। इसकी जानकारी देते हुए जिला पदाधिकारी उदयन मिश्रा ने बताया कि कटिहार जिले में संभावित जुलाई-अगस्त की माह में बाढ़ आने की संभावना बनी रहती है। इसी को देखते हुए बाढ़ राहत से जुड़े सभी कर्मियों शिक्षक, रसोइया,  नाविक तथा राहत कार्य से जुड़े सभी लोगों का कटिहार जिले में सौ फ़ीसदी वैक्सीनेशन करा लिया गया है। उन्होंने बताया कि जिले में संभावित बाढ़ को देखते हुए 397 ऊंचा और सुरक्षित शरण स्थल को भी चिन्हित किया गया है। इसके अलावा कोविड को देखते हुए 150 अतिरिक्त शरण स्थल भी चिन्हित किये गये हैं। जहां पर इनके राहत कार्य को लेकर सरकारी कर्मियों को तैनात किया जाएगा। उन्होंने बताया कि सभी नदियों के जलस्तर में लगातार इजाफा हो रहा है इसी को देखते हुए जिला प्रशासन ने अपनी पूरी तैयारी भी पूरी कर ली है। 


डीएम उदयन मिश्रा ने बताया कि जिन क्षेत्रों में हर साल बाढ़ आती ही है, विगत एक माह से उन इलाकों में टीकाकरण पर खास ध्यान दिया जा रहा है। इन इलाकों में पंचायतवार ढंग से टीका लगाया जा रहा है। प्रथम चरण में वैसे लोगों को खासतौर पर चिन्हित कर टीके लगाए जा रहे हैं, जो बाढ़ के राहत कार्य में सम्मिलित होंगे। इनमें सरकारी कर्मचारियों से इतर शिक्षक, रसोइया, नाविक, गोताखोर इन सभी लोगों का 100 टीका लग गया। बाढ़ प्रभावित क्षेत्रों के लोगों को भी प्राथमिकता के आधार पर टीके लगाए गए और इन इलाकों में 100 फीसदी कार्य संपन्न हो गया है।

Find Us on Facebook

Trending News