BIHAR NEWS: गिद्धौर में ST/SC आवासीय विद्यालय तो चकाई में वृहत आश्रय गृह का होगा निर्माण- डीएम

BIHAR NEWS: गिद्धौर में ST/SC आवासीय विद्यालय तो चकाई में वृहत आश्रय गृह का होगा निर्माण- डीएम

JAMUI: जमुई के गिद्धौर में अनुसूचित जनजाति आवासीय विद्यालय तो चकाई में वृहत आश्रय गृह का निर्माण होगा। इसको लेकर भूमि के अंतर विभागीय हस्तांतरण की प्रक्रिया पूरी कर ली गई है। अनुसूचित जनजाति आवासीय विद्यालय और वृहत आश्रय गृह का निर्माण कार्य जल्द प्रारंभ होगा। उक्त जानकारी देते हुए जमुई जिलाधिकारी अवनीश सिंह ने बताया कि जमुई के चकाई अंचल में मुख्यमंत्री बाल आश्रय विकास योजना अंतर्गत विभिन्न प्रकार के गृहों यानी वृहत आश्रय गृह के निर्माण हेतु वांछित 5 एकड़ की भूमि को समाज कल्याण विभाग को अंतर विभागीय हस्तांतरण की स्वीकृति प्रदान की गई है। इस स्वीकृति के साथ ही जमुई जिला अंतर्गत चकाई अंचल में मुख्यमंत्री बाल आश्रय विकास योजना अंतर्गत विभिन्न प्रकार के गृह यथा बाल गृह, बालिका गृह एवं अल्पावास गृह के निर्माण का पथ प्रशस्त हो गया है।

डीएम ने बताया कि मुख्यमंत्री बाल आश्रय विकास योजना अंतर्गत जमुई जिले के चकाई अंचल में बृहत आश्रय गृह के निर्माण से जमुई जिले में विभिन्न स्थानों पर संचालित बाल गृह एवं बालिका गृह समेत अल्पावास गृह को एक ही परिसर में स्थापित एवं संचालित कराया जाएगा जिससे वहां रहने वाले बच्चों या व्यक्तियों के पोषण एवं विकास से संबंधित मॉनिटरिंग एकीकृत रूप से की जा सकेगी। डीएम ने आगे बताया कि भूमि हस्तांतरण की वजह से गिद्धौर अंचल में अनुसूचित जनजाति आवासीय विद्यालय के निर्माण कार्य प्रारंभ नहीं हो पा रहा था लेकिन अब इसके निर्माण के लिए वांछित 5 एकड़ भूमि नि:शुल्क अंतर विभागीय हस्तांतरण स्वीकृति प्राप्त हुई है। अब जमुई जिले में अनुसूचित जनजाति समुदाय के बच्चों को मुफ्त भोजन, कपड़े एवं माध्यमिक शिक्षा निशुल्क प्राप्त हो सकेगी।

डीएम ने बताया कि अनुसूचित जनजाति आवासीय विद्यालय के निर्माण हो जाने से जमुई जिले के अनुसूचित जनजाति समुदाय के सैकड़ों बच्चों को सरकार की इस योजना के माध्यम से उनके संवर्धन एवं पोषण का ध्यान रखते हुए उनके विकास से संबंधित कार्य में गति प्रदान की जा सकेगी। विदित हो कि जमुई जिले के अनुसूचित जनजाति समुदाय के बच्चों के उचित विकास एवं पोषण से संबंधित क्षेत्र में जमुई के डीएम अवनीश कुमार सिंह द्वारा कई उल्लेखनीय एवं प्रशंसनीय कार्य किए जा चुके हैं। 

Find Us on Facebook

Trending News