BIHAR NEWS : तेजस्वी को सिर्फ लूट-भ्रष्टाचार के 'टीके' पर भरोसा, JDU का लालू परिवार पर बड़ा हमला

BIHAR NEWS : तेजस्वी को सिर्फ लूट-भ्रष्टाचार के 'टीके' पर भरोसा, JDU का लालू परिवार पर बड़ा हमला

PATNA : कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर लालू परिवार के खिलाफ जदूय प्रवक्ता व एमएलसी नीरज लगातार हमलावर हैं। वह लगातार वैक्सीन को लेकर लालू परिवार पर सवाल उठा रहे हैं। अब उन्होंने अपने एक ट्ववीट में नेता प्रतिपक्ष के लिए लिखा है कि तेजस्वी यादव और उनके परिवार को हमारे वैज्ञानिकों और डॉक्टरों द्वारा बनाए गए टीके पर भरोसा नहीं है। इस दौरान उन्होंने तेजस्वी को जंगलराज के युवराज कहते हुए लिखा है कि असल में इनको बस लूट और भ्रष्टाचार के टीके पर भरोसा है। लोगों की जान की कीमत इनके लिए पहले भी शून्य थी, आज भी शून्य है। हालांकि उन्होंने अपने इस ट्वीट को थोड़ी देर बाद ही डिलीट कर दिया। लेकिन तब तक यह पोस्ट वायरल हो चुका था।

दरअसल, वैक्सीन को लेकर नीरज कुमार पिछले कुछ दिनों से लगातार लालू परिवार पर तीखा हमला कर रहे हैं इससे पहले उन्होंने तेजस्वी यादव और तेज प्रताप को लेकर अपने पोस्ट में लिखा था कि टीका पर राजनीति तो खूब कर रहे @tejaswiyadav , मगर खुद क्यूँ टीका नहीं ले रहे? टीका पर अपनी राजनीति साफ़ कीजिए तेजस्वी जी! पहले भी आपके बड़े भैया ने टीका पर जो टिप्पणी की थी वो सबको याद है। क्या ये सच नहीं कि आप और आपका परिवार टीकाकरण के ख़िलाफ़ है? बता दें कि तेज प्रताप ने कहा था कि भारत के प्रधानमंत्री कोराना का वैक्सीन लेते हैं, तो वह उनके बाद वैक्सीन जरुर लेंगें, लेकिन इस घोषणा का अब तक उन्होंने पालन नहीं किया है। 

कोरोना के दौरान लालू परिवार द्वारा ट्विटर पर सक्रियता पर नीरज कुमार ने कड़ी टिप्पणी की थी। उन्होंने तेजस्वी का नामकरण ट्विटर बबुआ के रूप में करते हुए लिखा था कि उन्होंने कोरोना संक्रमण से लड़ने का तरीका खोज लिया है। इस  दौरान नेता प्रतिपक्ष ने खुद 228 और लालू फैमिली 1319 ट्वीट व रिट्वीट का गवाह बना कोविड-19 के संकट से लड़ने के लिए नई दवा का इजाद किया  ट्वीट और रीट्वीट दवाई का ईजाद किया 


वहीं नीरज कुमार  के बयान को लेकर राजद के राष्ट्रीय प्रवक्त मृत्युंजय तिवारी ने कहा कि वह किस मुंह से तेजस्वी यादव पर सवाल उठा रहे है। यह बेशर्मी की पराष्ठा है कि ऐसे लोग जो वैक्सीनेशन के आंकड़ों में घोटाला कर रहे हैं, वह सवाल उठा रहे हैं। उन्होंने एनडीए नेताओं को राजनीतिक कोरोना बताते हुए कहा कि जब तक वह लोग तेजस्वी चालीसा नहीं पढ़ते हैं, तब तक उनका दिन नहीं कटता है। राज्य की जनता ने तेजस्वी को फर्स्ट डिविजन से पास किया है, उसके सवालों का एनडीए के पास कोई जवाब नहीं है, इसलिए बेमतलब की बातों को तूल दिया जा रहा है।



Find Us on Facebook

Trending News