BIHAR NEWS: शहर में प्रीपेड मीटर सर्वे की गति काफी धीमी, असंभव-सा लग रहा 2 माह में सर्वे पूरा करने का लक्ष्य

BIHAR NEWS: शहर में प्रीपेड मीटर सर्वे की गति काफी धीमी, असंभव-सा लग रहा 2 माह में सर्वे पूरा करने का लक्ष्य

CHHAPRA: शहर में बिजली का प्रीपेड मीटर लगाने के लिए सर्वे का काम कंपनी ने 1 सप्ताह पहले शुरू कर दिया है। लेकिन जिस गति से काम हो रहा है ऐसे में यह सहज ही अंदाजा लगा सकता है कि 2 माह में सर्वे पूरा करने का काम असंभव सा दिख रहा है ।अभी तक मात्र दो से ढाई हजार दुकानों और घरों का ही सर्वे हो पाया है। सर्वे का काम शहर के हथुआ मार्केट से शुरू हुआ और आगे की ओर बढ़ रहा है लेकिन जो गति होना चाहिए था वह गति नहीं है ऐसे में विभाग के 2 माह में कार्य पूरा करने का दावा समझ से परे है।

तकनीकी कारणों से सर्वे की गति धीमी

सर्वे कर रही कंपनी के कर्मियों और संबंधित विभाग के अधिकारियों से जब बात की गई तो उनका कहना है कि यह काम अभी नया है और इसमें कई तरह के तकनीकी अड़चन सामने आ रहे हैं ऐसे में थोड़ी परेशानी हो रही है लेकिन जल्द ही गति तेज हो जाएगी जैसा कि दावा किया जा रहा है कि हर हाल में नए वित्तीय वर्ष के पहले शहर के सभी घरों में प्रीपेड मीटर लग जाएगा और विभाग को कई समस्याओं से मुक्ति मिलेगी साथ ही राजस्व में काफी इजाफा होगा इसके अलावा बिजली कंपनी को कई अन्य फायदे होंगे।

बिजली बिल समेत अन्य समस्याओं से मिलेगी निजात

इस सुविधा से एक ओर जहां बिजली की चोरी रुकेगी वहीं दूसरी ओर राजस्व में अप्रत्याशित वृद्धि होगी। क्योंकि बिजली विभाग जितना बिजली आपूर्ति करता है उसका 30 से 50 फ़ीसदी हैं ही राजस्व पाता है। ऐसे में यदि यह सुविधा बहाल होती है तो बिजली विभाग को 100 फ़ीसदी राजस्व आने की उम्मीद बढ़ जाएगी। वही आम उपभोक्ताओं की शिकायत रहती है कि बिजली बिल अक्सर समय पर नहीं आता, बिजली बिल में काफी गड़बड़ी है, मनमाने तौर पर रीडिंग की जाती है, मीटर रीडर नहीं आते हैं, अफसर बिजली बिल में सुधार नहीं कर रहे हैं, आदि अन्य समस्याओं से उपभोक्ताओं को निजात मिलेगा। हालांकि आम उपभोक्ता इस बात से भी डर रहे हैं कि कहीं मीटर इतना तेजी से नहीं भागने लगे कि पैसा जमा करते ही तुरंत खत्म हो जाए । चार्ज से अधिक खपत होने लगे।

फ्रांस का है यह स्मार्ट प्रीपेड मीटर

जो मीटर पूरे बिहार में लगाया जा रहा है यह फ्रांस ईडीएफ कंपनी लगा रही है। ईडीएफ यानी इलेक्ट्रिसाइट डे फ्रांस की कंपनी को पूरे जिले में सर्वे का काम मिला है सर्वे का काम करने के बाद मीटर लगाने का काम कंपनी करेगी।

क्या कहते हैं अफसर

इसको लेकर छपरा पश्चिमी क्षेत्र के प्रभारी एसडीओ राजकुमार का कहना है कि दरअसल कुछ तकनीकी कारण आ रहे हैं इस वजह से गति थोड़ी धीमी है लेकिन 24 सितंबर को इस सर्वे और मीटर लगाने के कार्यक्रम का शुभारंभ कार्यक्रम है कार्यक्रम के बाद इसमें गति आ जाएगी क्योंकि इस कार्य में और कर्मी लगाए जाएंगे।

Find Us on Facebook

Trending News