BIHAR NEWS: लाखों रुपए की लागत से बने उप-स्वास्थ्य केंद्र पर ग्रामीण का कब्जा, जनप्रतिनिधि की मायूसी से धूल फांक रहा अस्पताल

BIHAR NEWS: लाखों रुपए की लागत से बने उप-स्वास्थ्य केंद्र पर ग्रामीण का कब्जा, जनप्रतिनिधि की मायूसी से धूल फांक रहा अस्पताल

NAWADA: नवादा जिले के वारिसलीगंज थाना क्षेत्र के बाघीबरडीहा पंचायत स्थित बाघी गांव में बने उप-स्वास्थ्य केंद्र के भवन पर बड़ा सा ताला लटका हुआ है। वर्ष 2011-12 में उप-स्वास्थ्य केंद्र का निर्माण कराया गया था, जो पिछड़ा क्षेत्र अनुदान कोष योजना से 2 लाख रुपये की लागत से बना था। हालांकि 10 साल बीत जाने पर भी अबतक किसी ने इसे चालू हालत में नहीं देखा।

उपस्वास्थ्य केंद्र भवन निर्माण के बाद से ही गांव के एक ग्रामीण द्वारा इसपर कब्जा जमा लिया गया। अब इस उप-स्वास्थ्य केंद्र भवन का इस्तेमाल मवेशी का चारा रखने में रूप में किया जा रहा है। गांव का कोई व्यक्ति यह बताने के लिए तैयार नहीं है कि किसने यहां पर यह सामान रखा है। वैश्विक महामारी कोरोना के दौर में राज्य सरकार भले ही शहर से लेकर गांव तक लोगों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधा मुहैया कराने को कही हो, लेकिन इसकी हकीकत किसी से भी छुपी नहीं है। महामारी का कहर अभी जारी है। ऐसे में लोगों को अस्पताल व चिकित्सक की जरूरत है। खासकर गांव में स्वास्थ्य व्यवस्था जरूरी है। इसके लिए गांवों में अस्पताल भवन बनाया गया है, परंतु उसका उपयोग नहीं हो रहा है। उसमें न तो चिकित्सक हैं और ना ही नर्स। लाखों रुपये का बना भवन बेकार पड़ा है । ग्रामीण के द्वारा बताया जाता है कि आजतक अधिकारियों का भी ध्यान उपस्वास्थ्य केंद्र पर नहीं गया है, जबकि भवन नवादा-जमुई मुख्य मार्ग सड़क के बिल्कुल किनारे है। इस उप-स्वास्थ्य केंद्र पर ना तो जनप्रतिनिधियों का ध्यान है और न ही अधिकारियों की कृपा। मजबूरी में इस गांव व आसपास के लोगों को या तो वारिसलीगंज या नवादा सदर अस्पताल जाना पड़ता है। दोनों अस्पताल की दूरी 10-10 किमी दूर है।

सिविल सर्जन डॉक्टर अखिलेश मोहन ने news4nation से बातचीत के दौरान फोन पर कहा है कि यह अस्पताल को जल्द ही देखा जाएगा। इस मामले की विस्तृत जानकारी प्राप्त किया जाएगा। अभी सभी कर्मी कोविड-19 में अन्य जगहों पर भेजे गए हैं। जल्द ही अस्पताल को भी चालू किया जाएगा।

Find Us on Facebook

Trending News