BIHAR NEWS: टीकाकरण के दौरान ग्रामीण भड़के, स्वास्थ्य कर्मियों पर लगाया दिग्भ्रमित करने का आरोप

BIHAR NEWS: टीकाकरण के दौरान ग्रामीण भड़के, स्वास्थ्य कर्मियों पर लगाया दिग्भ्रमित करने का आरोप

NALANDA: कोरोना वैक्सीनेशन को लेकर अभी भी लोगो के बीच कई तरह की भ्रांतियां है। अभी भी नालंदा के कई गांव में लोग कोरोना वैक्सीन लेने से इंकार कर रहे है। कई लोग स्वास्थ्य कर्मियों पर टीकाकरण को लेकर दिग्भ्रमित करने का आरोप लगा रहे है। ताजा मामला सिलाव प्रखंड के पाकी गांव में आंगनबाड़ी केंद्र पर का हैं। जहां टीका एक्सप्रेस द्वारा शिविर लगाकर वैक्सीन दिया जा रहा था।

पाकी गांव में इसी दौरान शिविर में एक व्यक्ति वैक्सीन लगवाने के लिए पहुंचा। इस शख्स ने पहली डोज एक माह पूर्व लिया था और पोस्टर को देख कर दूसरा डोज लेने पहुचा था। सेंटर पर जब एएनएम द्वारा समझाया गया कि दूसरा डोज 84 दिन बाद लगेगा तो उसने वहीं हंगामा करना शुरू कर दिया। टीका एक्सप्रेस में लगे पोस्टर पर कोविशिल्ड का दूसरा डोज 12 से 16 सप्ताह के बीच लेने की बात लिखी है। वही को-वैक्सीन का दूसरा डोज 4 सप्ताह बाद लेने का टाइम दिया गया है । मगर सरकार द्वारा दोनो वैक्सीन का दूसरा डोज 84 दिन बाद देने का निर्देश दिया गया है । 

हंगामा की सूचना पाकर स्वास्थ्य विभाग की टीम और सिलाव थाना की पुलिस पाकी गांव पहुंची और समझा बुझाकर मामला को शांत कराया। इसी प्रखंड के सब्बैत पंचायत में अभी तक लोग वैक्सीन लेने से इनकार कर रहे है। सिलाव पीएचसी के प्रभारी राहुल कुमार ने बताया की लोगो के अंदर कोरोना वैक्सीन को लेकर भ्रांति है। इसके कारण वैक्सीन नही लगवा रहे है। वहां 2 जून को कैम्प लगाकर वैक्सीन लगाने का काम किया जाएगा।

Find Us on Facebook

Trending News