बिहार पुलिस मुख्यालय ने तलब की रिपोर्ट, इंस्पेक्टर वाले कितने थानों में दारोगा को बनाया गया थानेदार? ब्लैक मार्का वाले इंस्पेक्टरों की भी दें सूची

बिहार पुलिस मुख्यालय ने तलब की रिपोर्ट, इंस्पेक्टर वाले कितने थानों में दारोगा को बनाया गया थानेदार? ब्लैक मार्का वाले इंस्पेक्टरों की भी दें सूची

Patna: बिहार के जिन थानों में थानेदार के रूप में इंस्पेक्टर की पोस्टिंग करनी है उनमें सब इंस्पेक्टर को प्रभार दिए जाने  पर पुलिस मुख्यालय सख्त हो गया है। बिहार पुलिस मुख्यालय ने  इस संबंध में सभी वरीय पुलिस अधीक्षक, एसपी और रेल एसपी से रिपोर्ट तलब की है।  बिहार पुलिस मुख्यालय के आईजी की तरफ से इस संबंध में  सभी जिलों को पत्र भेजा गया है।

सभी एसपी तत्काल भेजें रिपोर्ट

पत्र में कहा गया है कि पुलिस निरीक्षक  हेतु चिन्हित थानों में  पुलिस अवर निरीक्षक कोटि के पदाधिकारियों को थानों का प्रभार दिया गया है।इस संबंध में पूरी सूची DGP के स्तर पर मांगी गई है। आईजी हेडक्वार्टर ने स्पष्ट किया है कि  गृह विभाग द्वारा 24 जून 2019 के आलोक में  थानाध्यक्ष के पद हेतु  डिसक्वालीफाई किए गए पुलिस निरीक्षकों की सूची भी तत्काल भेजें। पुलिस मुख्यालय ने अपने पत्र में कहा है कि आपके जिला अंतर्गत थाना अध्यक्ष के पद हेतु  डिसक्वालीफाई किए गए पुलिस निरीक्षकों की सेवा विवरण  यथाशीघ्र पुलिस मुख्यालय में उपलब्ध कराएं।

ब्लैक मार्का वाले अफसरों को थानेदार की कुर्सी देने पर रोक

बता दें कि  गृह विभाग ने  पिछले साल 24 जून को  वैसे दारोगा और इंस्पेक्टरों को  थाने की कमान देने से रोक दिया था जिन पर पुलिस मैनुअल के अनुसार तीन ब्लैक मार्का की सजा दी गयी थी।मतलब जिनको 3 मार्क था उन्हें थानेदार की कुर्सी नहीं देनी थी। सरकार के इस आदेश  का मकसद था कि थानों से  करप्शन को कम करना और बेहतर पुलिस पदाधिकारियों  की पदस्थापन करना। इसी बीच कई जगह से शिकायत मिल रही है कि इंस्पेक्टर वाले थानों में सब इंस्पेक्टर को थानाध्यक्ष बना दिया गया है। वहीं ब्लैक मार्क वाले पुलिस ऑफिसर को भी थानेदार की कमान दी गई है ।

Find Us on Facebook

Trending News