BIHAR POLITICS: चिराग पासवान से मुलाकात के बाद श्याम रजक ने कर दिया साफ, कहा- ‘जल्द ही RJD-LJP की बनेगी जोड़ी’

BIHAR POLITICS: चिराग पासवान से मुलाकात के बाद श्याम रजक ने कर दिया साफ, कहा- ‘जल्द ही RJD-LJP की बनेगी जोड़ी’

NEW DELHI: लोजपा में दो फाड़ होने के बाद से उनके दो दावेदारों में से एक पशुपति पारस अब केंद्रीय मंत्री बन गए हैं और विरोधियों का मुंह खुद ही बंद कर दिया है। वहीं दूसरी तरफ खुद को असली उत्तराधिकारी बताने वाले चिराग पासवान अभी तक कुछ फैसला नहीं ले पाए हैं। कभी वह तेजस्वी से नजदीकी बढ़ाते नजर आते हैं, तो कभी प्रधानमंत्री को अपने लिए कुछ कहने की गुहार लगाते हैं। इसी बीच राजद के राष्ट्रीय महासचिव श्याम रजक दिल्ली पहुंचते हैं और चिराग पासवान से मुलाकात करते हैं। इस मुलाकात के बाद से RJD-LJP के समीकरण को लेकर चर्चाएं तेज हो गई है।

चिराग पासवान से मुलाकात के मायनों पर श्याम रजक ने कहा कि यह राजनीतिक मुलाकात नहीं थी। हमारे संबंध पारिवारिक रहें है। यह बस एक शिष्टाचार मुलाकात थी। रामविलास पासवान के निधन के बाद से ही मैं उनके परिवार से नहीं मिल सका था। अब चिराग और उनकी माता, यानी की भाभी से मिला हूं। मैनें शोक संतप्त परिवार से मुलाकात की और हमेशा साथ रहने का भरोसा दिलाया। भविष्य में RJD-LJP के साथ आने पर कहा कि देश में लोकतांत्रिक मूल्यों के सर्वनाश की पराकाष्ठा हो चुकी है। हर मुद्दों पर देश की जनता प्रभावित है। महंगाई से हर वर्ग प्रभावित है। केंद्र सरकार ने निजीकरण के नाम पर लूट मचा रखी है। देश के तमाम वर्ग का दिल टूट रहा है। दिल टूटने से देश टूट जाएगा। देश टूटे नहीं, इसके लिए अंबेडकर, गांधी, लोहिया की नाति माननी चाहिए। रामविलास को लेकर कहा कि उन्होनें हमेशा खुद को देश के लिए समर्पित रखा। चिराग रामविलास के पथ पर ही चल रहे हैं। वह खूब आगे बढ़ेंगे। दलितों के टूटे दिल को चिराग ही जोड़ेंगे। राम-हनुमान के बात पर कहा कि हनुमान तो राम के सेवक थे। यदि कोई खुद को हनुमान और अन्य को राम बता रहा है, तो हनुमान बताने वाले को सत्ता से दूर होना होगा। ऐसा इसलिए क्योंकि हनुमान कभी सत्ता नहीं चाहते थे, वह सेवा चाहते थे। उनको अपने तथाकथित राम के विचारों और आदेश से जुड़ना होगा। हालांकि मुझे लगता है कि चिराग जनता के सेवक बनेंगे, ना कि तथाकथित राम के सेवक।

बीते दिनों सुप्रीम कोर्ट ने कहा था कि बिहार में पुलिसिया राज बढ़ता जा रहा है। इसको लेकर श्याम रजक ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट लगातार बिहार सरकार को हरेक मामलों में फटकार लगाता रहा है। बिहार में कानून नहीं, केवल पुलिस का राज है। इस मामले पर श्याम रजक ने विधानसभा में पुलिस द्वारा विधायकों को बाहर निकालने के मुद्दे को उठाया और कहा कि सत्ता में बैठे लोग पुलिस के माध्यम से काम साध रहे हैं और विधानसभा में उन्होनें जो करवाया, उसे इतिहास सदा सदा के लिए याद रखेगा।

बिहार में बाढ़ की विभीषिका पर राजद के राष्ट्रीय महासचिव श्याम रजक ने कहा कि सरकार के पास बाढ़ का स्थायी निदान नहीं है। सभी केवल बड़ी राशि का बंदरबांट करते हैं। CAG की रिपोर्ट का हवाला देत हुए उन्होनें कहा कि 17 विभाग में 92 हजार करोड़ रुपए के घोटाले का खुलासा हुआ है। बिहार में बड़े स्तर पर घोटाले हो रहे हैं और जनता सुविधाविहीन और लाचार है। हर क्षेत्र में बिहार की जगहंसाई हो रही है, मगर सरकार चिरनिद्रा में है। इनके पास वुज्ञापन बहुत है, जिसके माध्यम से वह लगातार अपना और सरकार का चेहरा चमकाने में लगे रहते हैं। हालांकि जनता इनकी सभी चाल समझ गई है और जल्द ही इन्हें निकाल बाहर किया जाएगा।

नई दिल्ली से संवाददाता धीरज कुमार की रिपोर्ट


Find Us on Facebook

Trending News