BIHAR POLITICS : मुलाकात को मांझी और तेज प्रताप ने बताया पारिवारिक भेंट, पूर्व सीएम ने कहा - नहीं छोड़ रहा नीतीश का साथ

BIHAR POLITICS : मुलाकात को मांझी और तेज प्रताप ने बताया पारिवारिक भेंट, पूर्व सीएम ने  कहा - नहीं छोड़ रहा नीतीश का साथ

PATNA : तेज प्रताप से मुलाकात को लेकर मांझी ने साफ कहा है कि इसका कोई राजनीतिक नजरिए से नहीं देखा जाना चाहिए। मांझी ने कहा कि इस मुलाकात को साफ कहा है कि इसका कोई राजनीतिक मायने नहीं निकालना चाहिए। वहीं तेज प्रताप ने भी कहा है कि यह पूरी तरह से पारिवारिक मुलाकात थी। इसमें किसी प्रकार की राजनीतिक चर्चा नहीं हुई है।

लगभग 20 मिनट तक चले इस मुलाकात के जीतन राम मांझी ने एक साथ मीडिया को संबोधित किया, जिसमें पूर्व सीएम ने साफ कर दिया कि यह नीजि मुलाकात थी। मांझी ने कहा कि तेज प्रताप से कोई राजनीतिक बात नहीं हुई है। मुलाकात में सिर्फ संगठन और युवाओं को लेकर बात हुई है। उन्होंने कहा इस मुलाकात में तेज प्रताप ने प्रस्ताव दिया है कि राज्य में एक ऐसे गैरे राजनीतिक संस्था की शुरुआत की जाए, जिसमें सभी पार्टियों के लोग अपने अनुभव साझा करें. मैंने उसमे हर प्रकार के सहयोग का भरोसा दिया है।

एनडीए से नहीं होंगे अलग

राजद के साथ आने के तेज प्रताप से प्रस्ताव को मांझी ने पूरी तरह से खारिज करते हुए कहा कि वह एनडीए के साथ ही बना रहूंगा। मांझी ने कहा कि तेज प्रताप के ऑफर को नहीं मान रहे हैं। उन्होंने इस भेंट को लेकर कहा कि इसका कोई राजनीतिक मायने नहीं निकालना चाहिए। पहले भी लालू परिवार के लोग हमसे मिलने के लिए आते रहे हैं। 


मन किया तो चला आया मिलने

वहीं तेज प्रताप ने कहा कि कई दिन से मांझी जी से नहीं मिल पाया था। लॉकडाउन के बाद आज उनसे मुलाकात करने के लिए आया हूं। यह पूरी तरह से पारिवारिक मुलाकात थी। यह कोई नई बात नहीं हैं। पहले भी कई बार उनसे मार्गदर्शन लेने के लिए मार्गदर्शन लेने के लिए मिलता रहा हूं।

नई पीढ़ी को राजनीति का जानकारी जरुरी

तेज प्रताप ने बताया कि इस मुलाकात में हमने एक गैर राजनीतिक संस्था शुरू करने की बात कही है, ताकि जो भी पुराने नेता हैं, वह अपना अनुभव और मार्गदर्शन नई पीढ़ी के साथ साझा कर सकें।

बहरहाल, अब दोनों नेताओं ने भले ही इस मुलाकात को पारिवारिक मुलाकात कहकर टालने की कोशिश की है, लेकिन बिहार की सियासत की समझ रखनेवालों के लिए यह किसी नए समीकरण की शुरुआत है। जिसका असर मौजूदा नीतीश सरकार पर पड़ना तय माना जा रहा है। पिछले कुछ समय से मांझी लगातार सरकार के खिलाफ बयानबाजी करते रहे हैं।

Find Us on Facebook

Trending News