Bihar Politics : CM नीतीश ने किया अन्याय, MLC लिस्ट जारी होने पर भड़के JDU प्रवक्ता

Bihar Politics : CM नीतीश ने किया अन्याय, MLC लिस्ट जारी होने पर भड़के JDU प्रवक्ता

पटना। (Bihar Poltical News)  बिहार विधान परिषद  (Bihar Vidhan Parishad) के लिए राज्यपाल  (bihar governor) कोटे से मनोनित होनेवाले 12 सदस्यों की सूची जारी कर दी गई है। जिसके साथ ही अब इस सूची को लेकर राजनीति भी शुरू हो गई है। जिनमें सबसे पहला विरोध विपक्ष नहीं बल्कि खुद  सीएम नीतीश कुमार ( cm nitish kumar) की पार्टी के एक दिग्गज नेता ने उठाया है। जदयू के पार्टी प्रवक्ता राजीव रंजन सूचि मेम अपना या किसी दूसरे कायस्थ जाति से जुड़े लोगों के नाम शामिल नहीं होने को लेकर नाराज जताई है। 

पार्टी प्रवक्ता ने कहा जदयू के छह सदस्यों के मनोनयन को मैं मानता हूं कि यह मनोनयन अन्यायपूर्ण है। सीएम द्वारा मनोनयन का अधिकार है। लेकिन इस सूची से मैं आहत हूं। उन्होंने कहा कि कहा कि जदयू के प्रति निष्ठा, कर्तव्यपरायणता, पार्टी का पक्ष मजबूती से रखना हो, पार्टी का सिर कभी झुकने नहीं दिया। ऐसे में मुझ जैसा नेता को नजरअंदाज किया जाना कहीं से सही नहीं ठहराया जा सकता है। इस फैसले से कायस्थों को लिए जदयू में क्या कुछ बचा है।

उन्होंने कहा कि पिछले लंबे समय से कायस्थ समाज को हाशिए पर रखने की कोशिश की जा रही है, पहले विधानसभा में अनदेखी की गई और अब विधान परिषद में उन्हे दरकिनार किया गया। उन्होंने कहा कि अब मुझे यह महसूस होने लगा है राजनीति में इस जाति को उनका हक नहीं दिया जा रहा है। राजीव रंजन ने कहा जेपी आंदोलन से निकले नेता नहीं चाहते कि कायस्थ जाति को राजनीति में जगह मिले। यह बहुत आहत करनेवाला है। उन्होंने साफ किया इस समाज के लोगों के साथ जिस तरह की राजनीति की जा रही है, वह बेहद ही शर्मनाक है। जारी सूची से बेहद नाराज आ रहे राजीव रंजन ने कहा कि वह इस मामले मे सीएम के समक्ष अपनी बात रखेंगे।




Find Us on Facebook

Trending News