BIHAR POLITICS : राम विलास और चिराग की पीठ में खंजर घोंपनेवाले पारस और प्रिंस राज की मुश्किलें बढ़ी, कोर्ट में दोनों सांसदों के खिलाफ दर्ज हुआ परिवाद

BIHAR POLITICS : राम विलास और चिराग की पीठ में खंजर घोंपनेवाले पारस और प्रिंस राज की मुश्किलें बढ़ी, कोर्ट में दोनों सांसदों के खिलाफ दर्ज हुआ परिवाद

MUZAFFARPUR : लोजपा में एक तरफ वैशाली के सांसद पशुपति को पार्टी की कमान सौंपने की तैयारी चल रही है, वहीं दूसरी तरफ उनके खिलाफ पार्टी कार्यकर्ताओं में गुस्सा भी देखा जा रहा है। अब यह गुस्सा कोर्ट तक पहुंच गया है। पशुपति पारस, समस्तीपुर सांसद प्रिंस राज सहित 5 अज्ञात लोगों के खिलाफ  मुजफ्फरपुर कोर्ट में परिवाद दायर कराया गया है। पशुपति, प्रिंस व अन्य पर आरोप है कि उन्होंने स्व. रामविलास और वर्तमान अध्यक्ष चिराग पासवान के पीठ में खंजर घोंपने का काम किया है। इनके खिलाफ मुजफ्फरपुर के व्यवहार न्यायालय के सीजेएम कोर्ट में परिवाद दर्ज। धारा 420, 406/34 के तहत परिवाद दर्ज हुआ है। मामले में 21 जून की सुनवाई की जानी है।

परिवाद दायर करने वाले समाजिक कार्यकर्ता कुन्दन कुमार ने बताया कि पशुपति और उनके सहयोगियों ने पार्टी के साथ धोखाधड़ी किया है।  सामाजिक कार्यकर्ता कुंदन कुमार ने बताया कि चिराग पासवान को साजिश के तहत लोक जनशक्ति पार्टी (LJP) से अलग करने की कोशिश पशुपति पारस और प्रिंस कुमार ने की है जो दुर्भाग्यपूर्ण है। 

उन्होंने बताया कि जबकि रामविलास पासवान और चिराग के नाम पर ये सांसद बने थे। आज जब रामविलास पासवान जी नहीं है तब पीठ में खंजर घोपने का काम किया गया है। पशुपति पारस एक मुखिया बनने लायक नही है। राम विलास का देन है कि आज वो सांसद है। कुंदन कुमार ने कहा कि इस घटना से वे इतने मर्माहत है कि उन्हें न्यायालय की शरण में आना पड़ा है।

Find Us on Facebook

Trending News