BIHAR : कैदी नंबर 3351 लालू यादव रिहा...बिरसा मुंडा जेल ने AIIMS प्रशासन को सौंपी रिहाई की हार्ड कॉपी

BIHAR : कैदी नंबर 3351 लालू यादव रिहा...बिरसा मुंडा जेल ने AIIMS प्रशासन को सौंपी रिहाई की हार्ड कॉपी

NEW DELHI/PATNA : चारा घोटाले मामले में सजायाफ्ता लालू प्रसाद यादव अधिकारिक तौर पर रिहा हो गए। शुक्रवार को दोपहर करीब 12.30 बजे रांची के बिरसा मुंडा जेल से दिल्ली एम्स को उनके रिहाई की हार्ड कॉपी सौंप दी गई। एम्स प्रशासन को हार्ड कॉपी मिलते ही लालू यादव अब कस्टडी से बाहर आ गए हैं। हालांकि मिली जानकारी के अनुसार रिहाई के बावजूद भी लालू एम्स में इलाज कराते रहेंगे। 

दरअसल, कोरोना को लेकर लालू के परिवारवाले कोई रिस्क नहीं लेना चाहते हैं। ऐसे में लालू का इलाज कर रहे डॉक्टरों की अनुमति के बाद ही वो घर जा सकेंगे। हालांकि डॉक्टर की अनुमति मिलने के बाद भी दिल्ली में अपनी बड़ी बेटी मीसा भारती सरकारी आवास में ही रहेंगे। जाहिर है कोरोना के बढ़ते रफ्तार और लालू प्रसाद के गंभीर बीमारियों के कारण वो अभी पटना नहीं जा सकेंगे।

मेल मानने से किया था इनकार

गौरतलब है कि गुरुवार को लालू प्रसाद की रिहाई के आदेश की कॉपी रांची स्थित बिरसा मुंडा जेल के अधिकारियों ने दिल्ली एम्स के निदेशक और यहां के अन्य अधिकारियों को मेल कर दी थी। लेकिन एम्स प्रशासन ने सॉफ्ट कॉपी लेने से इनकार कर दिया। जिसके बाद आज रांची से दिल्ली विमान से हार्ड कॉपी भेजी गई।

चारा घोटाले के दुमका कोषागार से गबन के मामले में 17 अप्रैल को झारखंड उच्च न्यायालय से जमानत मिलने के बावजूद राष्ट्रीय जनता दल के मुखिया बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव अब तक न्यायिक हिरासत से रिहा नहीं हो सके थे। क्योंकि झारखंड राज्य अधिवक्ता परिषद झारखंड स्टेट बार काउंसिल ने राज्य में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों को देखते हुए पूरे राज्य के अधिवक्ताओं को दो मई तक सभी प्रकार के न्यायिक कार्यों से दूर रहने का निर्देश जारी किया था। जिसके चलते सीबीआई की विशेष अदालत से जमानत बांड भरने और लालू की रिहाई के आदेश निर्गत करने आदि की कार्यवाही पूरी नहीं की जा सकी थी।

Find Us on Facebook

Trending News