परिवहन मंत्री शीला कुमारी की अध्यक्षता में बिहार सड़क सुरक्षा परिषद की बैठक, स्टेक होल्डर के कार्यों एवं योजनाओं की समीक्षा की गयी

परिवहन मंत्री शीला कुमारी की अध्यक्षता में बिहार सड़क सुरक्षा परिषद की बैठक, स्टेक होल्डर के कार्यों एवं योजनाओं की समीक्षा की गयी

पटना. बिहार की परिवहन मंत्री शीला कुमारी की अध्यक्षता में बुधवार को बिहार सड़क सुरक्षा परिषद की बैठक आयोजित की गई। बैठक में सड़क सुरक्षा के लिए बिहार सड़क सुरक्षा परिषद एवं विभिन्न पणधारी विभागों (स्टेक होल्डर) द्वारा किये जा रहे कार्यों व योजनाओं की विभागवार समीक्षा की गई।

इस दौरान मंत्री शीला कुमारी ने कहा कि सड़क दुर्घटना में कमी लायी जा सके, इसके लिए सभी को मिलकर काम करना होगा। सड़क दुर्घटना में पीड़ित व्यक्ति की मौत न हो इस दिशा में प्रयास करना चाहिए। उन्होंने निर्देश दिया कि सड़क दुर्घटना पीड़ितों को तत्काल अस्पताल पहुंचाया जा सके, इसके लिए पथों पर नियरेस्ट हॉस्पिटल का साइनेज लगाया जाय। हाइवे पर स्पीड लिमिट एवं अन्य सड़क सुरक्षा संकेतों संबंधित साइनेज पर्याप्त संख्या में लगाया जाए।

परिवहन विभाग मंत्री ने कहा कि सड़क सुरक्षा जागरुकता के लिए विभिन्न माध्यमों से प्रचार-प्रसार किये जा रहे हैं। ग्रामीण क्षेत्रों में और भी व्यापक रूप में जागरुकता हेतु प्रचार-प्रसार की आवश्यकता है। महत्वपूर्ण त्योहारों एवं मेले के दौरान सड़क सुरक्षा संबंधित प्रचार-प्रसार किये जाने से अधिक से अधिक लोगों में जागरुकता आ सकेगी। उन्होंने आम लोगों से अपील की कि हेलमेट, सीट बेल्ट पुलिस और फाइन से बचने के लिए नहीं, बल्कि अपनी सुरक्षा के लिए लगाएं। सदैव अच्छी गुणवता का हेलमेट पहनें।

इस दौरान राज्य परिवहन आयुक्त सीमा त्रिपाठी ने कहा कि सड़क दुर्घटना एवं दुर्घटना के फलस्वरुप मृतकों की संख्या में कमी लायी जाए, इसके लिए बिहार सड़क सुरक्षा परिषद द्वारा विभिन्न विभागों के सहयोग से कार्य किये जा रहे हैं। उन्होंने  बिहार सड़क सुरक्षा परिषद द्वारा किए गए कार्य, पणधारी विभागों (स्टेक होल्डर) द्वारा अनुपालन प्रतिवेदन पर प्रकाश डाला। उन्होंने कहा कि सड़क दुर्घटना के पीड़ितों की मदद करने वाले गुड सेमेरिटन को प्रोत्साहित करने के लिए सम्मान स्वरुप 5000 रुपए दिए जा रहे हैं।


Find Us on Facebook

Trending News