बिहार का बड़ा शराब कारोबारी चढ़ा पुलिस के हत्थे, सिंडिकेट बनाकर कई जिलों में करता है शराब की सप्लाई

बिहार का बड़ा शराब कारोबारी चढ़ा पुलिस के हत्थे, सिंडिकेट बनाकर कई जिलों में करता है शराब की सप्लाई

PATNA :  बिहार में जहरीली शराब से 50 से अधिक लोगों की मौत के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने एक बार फिर शराबबंदी को सख्ती से लागू करने की कवायद तेज कर दी है। इसी कड़ी में 16 नवम्बर को मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने समीक्षा बैठक की। जिसमें अधिकारीयों को कई निर्देश दिए गए। वहीँ सभी सरकारी कर्मियों को नशामुक्ति को लेकर शपथ दिलाया गया। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की पहल अब रंग लाने लगी है। पुलिस की ओर से शराब कारोबारियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा रही है। 

इसी कड़ी में मद्य निषेध विभाग और पूर्णिया पुलिस के सहयोग से पश्चिम बंगाल से बिहार में शराब के मुख्य आपूर्तिकर्ता शराब माफिया मुर्शीद आलम को पुलिस में गिरफ्तार कर लिया गया है जो जिला उत्तरी दिनाजपुर का रहने वाला है। वह दालकोला से शराब का बड़ा कारोबारी रहा है। उसकी गिरफ्तारी बिहार पुलिस के लिए चुनौतीपूर्ण कार्य था। मद्य निषेध विभाग और पूर्णिया पुलिस की संयुक्त कार्रवाई में कल उसे पूर्णिया से गिरफ्तार किया गया है। उसकी गिरफ्तारी से बंगाल, झारखंड और उत्तर पूर्वी के अवैध शराब कारोबारी के अपराध शैली पर व्यापक प्रभाव पड़ने की संभावना है। 

बताया जाता है कि पश्चिम बंगाल के दालकोला और उसके आसपास के जिलों में वह शराब माफियाओं को संरक्षण देता था और उसके एवज में अवैध रूप से पैसे की वसूली करता था। वह विदेशी शराब की तस्करी के साथ नकली शराब की आपूर्ति भी करता था। दालकोला चेक पोस्ट पर बिहार पुलिस की दबिश बढ़ने के कारण उसने झारखंड होते हुए बिहार में शराब आपूर्ति करना शुरू कर दिया था। प्रारंभिक पूछताछ में उसने बताया कि बंगाल में कई लोगों के साथ सिंडिकेट बना कर अवैध शराब का कारोबार करता है। बिहार के पूर्णिया, अररिया, सुपौल, किशनगंज, मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर, बांका, वैशाली और मोतिहारी में ट्रक और पिकअप के माध्यम से झारखंड के रास्ते से बिहार में अवैध शराब उपलब्ध कराता था। गिरफ्तार शराब कारोबारी पर बिहार के विभिन्न थानों में डेढ़ दर्जन के करीब मामले दर्ज हैं। 

विवेकानंद की रिपोर्ट 

Find Us on Facebook

Trending News