बिहार की शिक्षा व्यवस्था बदहाल : भरी क्लास में टीचर ले रही खर्राटे, बच्चे का भविष्य लगा दांव पर

बिहार की शिक्षा व्यवस्था बदहाल : भरी क्लास में टीचर ले रही खर्राटे, बच्चे का भविष्य लगा दांव पर

कटिहार. बिहार के शिक्षा मंत्री दावा कर रहे हैं कि बिहार की शिक्षा व्यवस्था में व्यापक सुधार की जरुर है, लेकिन कैसे? उसी बिहार के कटिहार से एक ऐसी तस्वीर सामने आई है, जो बिहार की शिक्ष व्यवस्था को शर्मसार करने वाली है। जिले के श्रीकोल गांव के प्राथमिक स्कूल में एक शिक्षिका भरी क्लास में सो रही है, जबकि बच्चे बेंच-टेबल पर बैठकर शिक्षिका की निंद खुलने का इंतजार कर रहे हैं। यह तस्वीर सामने आने के बाद लोग बिहार की शिक्षा व्यवस्था पर सवाल खड़ा कर रहे हैं। 

मामला कटिहार के आजमनगर प्रखंड के महेशपुर पंचायत अंतर्गत श्रीकोल गांव स्थित प्राथमिक विद्यालय श्रीकोल अनुसूचित जाति स्कूल का है। यहां शिक्षिका दीपाली बच्चों को कक्षा में पढ़ाने के बजाए कुर्सी पर ही आराम फरमाते हुए पूरी तरह नींद के आगोश में दिख रही है। विद्यालय के कक्षा में मौजूद छात्र-छात्रएं मैडम को आवाज देकर नींद से जगाने की भरपूर कोशिश करते हैं, लेकिन मैडम पूरी तरह नींद के आगोश में है।

मामले को लेकर जब सवाल विद्यालय के प्रभारी प्रधानाध्यापक से पूछा गया तो उनकी मजबूरी साफ झलक गयी। प्रभारी प्रधानाध्यपक की माने तो दीपाली मैम बेहद कड़क है और उनको ज्यादा कुछ बोलने पर हंगामा हो सकता है। इसीलिए चुप रहना ही बेहतर है। हालांकि लगातार मीडिया और स्थानीय लोगों के दबाव के बाद प्रभारी प्रधानाध्यापक कार्रवाई की बात कह रहे हैं। निश्चित तौर पर जिस दौर में शिक्षा मंत्री शिक्षा व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए शिक्षकों से आउटपुट की उम्मीद कर रहे हैं, उसी दौर में ऐसी तस्वीरें आना काफी दुखद है।


Find Us on Facebook

Trending News