पीएम मोदी के मिशन को बिहार दे रहा जोरदार झटका, गंगा सफाई में बिहार फिसड्डी,राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन ने किया खुलासा

पीएम मोदी के मिशन को बिहार दे रहा जोरदार झटका, गंगा सफाई में बिहार फिसड्डी,राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन ने किया खुलासा

NEWS4NATION DESK : गंगा को प्रदूषण मुक्त और स्वच्छ रखने के लिए करोड़ों खर्च किए जा रहे हैं साथ ही जागरूकता अभियान भी जोरों पर चलाया जा रहा है, उसके बावजूद बिहार गंगा की सफाई में फिसड्डी साबित हुआ है। इसका खुलासा राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन की ओर से नेशनल ग्रीन ट्रिब्यूनल एनजीटी में पेश रिपोर्ट में किया गया है।

बता दें कि गंगा को स्वच्छ रखने और प्रदूषण मुक्त करने के लिए बिहार में एक भी सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट लगाने का कार्य पूरा नहीं हो पाया है ।

गौरतलब है कि यहां तकरीबन 28 सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट लगाए जाने हैं लेकिन विडंबना देखिए अभी तक एक का भी काम पूरा नहीं हो पाया है । राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन की ओर से पेश रिपोर्ट में इन तथ्यों का खुलासा हुआ है। 

वहीं दूसरी तरफ राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन के रिपोर्ट में बताया गया है कि पड़ोसी राज यूपी में 23 सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट में से 10 का  काम पूरा कर लिया गया है । 

गंगा को स्वच्छ रखने के लिए पूरे देश में कुल 75 सीवेज ट्रीटमेंट प्लांट लगाए जाने की योजना है। राष्ट्रीय स्वच्छ गंगा मिशन की ओर से पेश किए गए रिपोर्ट पर एनजीटी के प्रमुख जस्टिस एके गोयल ने नाराजगी जाहिर करते हुए बिहार की स्थिति को बेहद चिंताजनक बताया है ।

एनजीटी के पीठ ने नाराजगी जाहिर करते हुए कहा है कि गंगा को प्रदूषण मुक्त करने का आदेश आज से 34 साल पहले सुप्रीम कोर्ट ने दिया था ,लेकिन इस पर ध्यान नहीं दिया गया। उन्होंने हिदायत देते हुए कहा है कि राज्य सरकारें गंगा को स्वच्छ और प्रदूषण मुक्त करने में अपनी जिम्मेदारी को अहम तरीके से निभाये, क्योंकि गंगा एक राष्ट्रीय नदी होने के साथ-साथ आस्था का भी प्रतीक है।

गंगा सिर्फ मोक्ष दायिनी नहीं बल्कि जीवनदायिनी भी है, इसलिए गंगा के पानी मे गन्दगी बर्दास्त नहीं कि जाएगी।

Find Us on Facebook

Trending News