बिहार के सबसे पावरफुल IAS ने फिर पेश की सादगी की मिसाल, बिना तामझाम के ‘आम आदमी’ से दिखे अपर मुख्य सचिव डॉ. एस. सिद्धार्थ

बिहार के सबसे पावरफुल IAS ने फिर पेश की सादगी की मिसाल, बिना तामझाम के ‘आम आदमी’ से दिखे अपर मुख्य सचिव डॉ. एस. सिद्धार्थ

पटना. बिहार के चर्चित आईएएस अधिकारी डॉ एस. सिद्धार्थ एक बार फिर से खासे चर्चा में हैं. आम तौर पर आईएएस अधिकारियों का एक अलग तरह का व्यक्तित्व होता है, उनके एक इशारे पर लोगों की भरमार लग जाती है। कई अधिकारियों को अक्सर घर से बाहर पूरे लाव लश्कर और बॉडीगार्ड के साथ ही प्रायः बाहर निकलते देखा जाता है। एक आईएएस ऑफिसर के पास इतनी पावर होती है कि उनका एक फोन ही कई गाड़ियों की कतार खड़ी कर सकता है और कई लोग उनकी सेवा में हाजिर हो सकते है। लेकिन दूसरी ओर देश में कई ऐसे आईएएस अधिकारी हैं जिनकी सादगी आम लोगों को अपनी और आकर्षित करती है।

वहीं, कई आईएएस अधिकारी बिना तामझाम के अपने दहलीज से बाहर कदम नही रखते है। लेकिन आज हम एक बार फिर चर्चा कर रहे हैं अपनी सादगी को लेकर आम जनता के बीच चर्चा में रहने वाले बिहार के सबसे पॉवरफुल आईएएस अधिकारी डॉ. एस. सिद्धार्थ की। एस. सिद्धार्थ रात के करीब दस बजे एक बार फिर से बिना किसी गार्ड और बिना किसी ताम झाम के राजेन्द्र नगर सब्जी मंडी में जमीन पर बैठकर अकेले सब्जी खरीदते देखे गए हैं।

डॉक्टर एस सिद्धार्थ को बिहार के सबसे पावरफुल आईएएस अधिकारी के रूप में माना जाता है. वे बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के प्रधान सचिव है। इसके अलावे एस सिद्धार्थ बिहार के वित्त और मंत्रिमंडल सचिवालय विभाग के भी अपर मुख्य सचिव के पद पर पदस्थापित हैं।  बिहार के ऐसे आईएएस अधिकारी हैं जिनके एक बुलावे पर सैकड़ो गाड़ियों और मातहत काम करने वाले अधिकारियों और कर्मचारियों की कतार लग जाय। इसके अलावा कल इन्होंने पहले मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के साथ तीन विभागीय मीटिंग करने के बाद रात में नौ बजे तक पहले ऑफिस का कामकाज खत्म किया। इसके पश्चात रात में सब्जी खरीदने खुद राजेन्द्र नगर सब्जी मंडी निकल गए। वो भी सब्जी मंडी जहाँ इन्होंने जमीन पर बैठकर सब्जी बेचने वाली एक बूढ़ी महिला से खुद भी जमीन पर बैठकर सब्जी खरीदी।

आईएएस अधिकारी डॉक्टर एस सिद्धार्थ इससे पहले शहर में रिक्सा पर घूमते, चैराहे पर गोल गप्पा खाते हुए नज़र आये और खूब चर्चा में थे। ईमानदार और स्वच्छ छवि के इस आईएएस अधिकारी की एक और खासियत है। सदाबहार ये आपको हमेशा सफेद सर्ट और काले पेंट में नज़र आयेंगे। और जब बिहार की विकास की बात होगी तो किसी काम को कम समय में बहुत अच्छा और जनता के लिए फायदेमंद कैसे हो सकता है उसमें इनकी दिलचस्पी सबसे अधिक रहती है।

गुरुवार रात को भी इसी तरीके का कुछ नजारा नजर आया जब अचानक से आम लोगों के बीच सब्जी खरीदते हुए अनायास ही दिखाई पड़ गए। नहीं आजू बाजू में सुरक्षाकर्मी नजर आए और ना ही किसी तरीके का तामझाम। इस तरीके की सादगी उन्हें देश के एक आम नागरिक की तरह दिखाती है और इनकी इसी सादगी ने बिहार के लोगों का आज दिल जीत लिया है।


Find Us on Facebook

Trending News