पासपोर्ट की तरह आपके घर पर पहुंचेगा ड्राइविंग लाइसेंस, अब नहीं लगाना होगा डीटीओ ऑफिस का चक्कर

पासपोर्ट की तरह आपके घर पर पहुंचेगा ड्राइविंग लाइसेंस, अब नहीं लगाना होगा डीटीओ ऑफिस का चक्कर

PATNA : अब पासपोर्ट की तरह अपका ड्राइविंग लाइसेंस भी घर पर पहुंचेगा। ड्राइविंग लाइसेंस बनवाने के लिए डीटीओ ऑफिस का चक्कर नहीं लगाना होगा। अभी तक पासपोर्ट, बैंक चेकबुक, पैन कार्ड, एटीएम और डेबिट कार्ड ही डाक से आते रहे हैं, लेकिन अब परिवहन विभाग ड्राइविंग लाइसेंस और वाहनों का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट आवेदकों के घर तक पहुंचाने के लिए नई व्यवस्था शुरू करने जा रहा है। पासपोर्ट की तर्ज पर ड्राइविंग लाइसेंस भी आपके घर पर पहुंचेगा। घर बैठे ही आवेदक आसानी से अपना ड्राइविंग लाइसेंस प्राप्त कर सकेंगे।  

परिवहन विभाग की नई पहल

परिवहन विभाग के सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने बताया कि ड्राइविंग लाइसेंस और वाहनों का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट की होम डिलीवरी सेवा उपलब्ध कराने की सुविधा बहुत जल्द ही शुरू की जा रही है। इसके लिए डाक विभाग के साथ एमओयू होगा। एमओयू की प्रक्रिया चल रही है।

परिवहन सचिव संजय कुमार अग्रवाल ने कहा है कि ड्राइविंग लाइसेंस आवेदकों के घर तक पहुंचाने की नई व्यवस्था से लाइसेंस आवेदकों के पता का वेरिफिकेशन हो सकेगा। कोई भी व्यक्ति गलत पते पर लाइसेंस नहीं बनवा सकेंगे। कई बार फर्जी पते पर लाइसेंस बनने के मामले आते रहे हैं। दलालों पर अंकुश लगेगा। आरसी के लिए डीलर्स के पास भी किसी को चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा।

पटना से शुरु होगी योजना

ड्राइविंग लाइसेंस और वाहनों का रजिस्ट्रेशन सर्टिफिकेट घर तक पहुंचाने की व्यवस्था पहले चरण में पटना से शुरू होगी। पटना के बाद अन्य जिलों में भी यह व्यवस्था शुरू होगी। इस व्यवस्था के शुरू होने से ड्राइविंग लाइसेंस लेने के लिए आवेदकों को डीटीओ ऑफिसर का चक्कर नहीं लगाना पड़ेगा। ड्राइविंग लाइसेंस के लिए ऑनलाइन आवेदन देने के बाद ड्राइविंग टेस्ट की प्रक्रिया पूरी होने के बाद निर्धारित समय सीमा के अंदर डाक विभाग के जरिए लाइसेंस आवेदकों के दिए पते पर पहुंचा दिया जायेगा। अगर एड्रेस सही नहीं पाया गया तो डीएल पुन: वापस लौट जायेगा।

Find Us on Facebook

Trending News