बिहार विधानपरिषद में सत्तापक्ष-विपक्षी सदस्यों के सवालों से 'मंत्री जी' की बंध गई घिग्घी, निगम आयुक्त पर हो अवमानना की कार्रवाई

बिहार विधानपरिषद में सत्तापक्ष-विपक्षी सदस्यों के सवालों से 'मंत्री जी' की बंध गई घिग्घी, निगम आयुक्त पर हो अवमानना की कार्रवाई

पटनाः बिहार विधानपरिषद में आज सत्तापक्ष और विपक्षी सदस्यों के सवालों से मंत्री जी की घिग्घी बंध गई।सवालों की बौछार से मंत्री जी सहम गए।दरअसल सदन के तमाम सदस्य पटना नगर निगम क्षेत्र में  में व्यापत गंदगी को लेकर नगर विकास मंत्री सुऱेश शर्मा को घेर लिया।

मंत्री जब अधिकारियों की तरफ से दिया जवाब सदन में पढ़ रहे थे तो सत्तापक्ष और विपक्ष के कई सदस्यों ने जबाब को गलत ठहरा दिया और चैलेंज दिया कि भी जांच कराई जाए। सदस्यों ने आरोप लगाया कि अधिकारी पूरी तरह से गलत जानकारी दे रहे और सदन को गुमराह कर रहे।ऐसे लापरवाह अधिकारियों पर कार्रवाई हो।

जेडीयू सदस्य रणवीर नंदन और बीजेपी के नवल किशोर यादव ने पटना निगम के आयुक्त पर सदन की अवमानना का नोटिस देने की मांग की।सदस्यों ने सदन में कहा कि निगम का आयुक्त सदस्यों का फोन तक रिसीव नहीं करता।यह पूरी तरह से सदस्यों का अपमान है।इसलिए अधिकारी पर सदन की अवमानना की कार्रवाई होनी चाहिए।

सवाल की गंभीरता को देखते हुए विधानपरिषद सभापति ने नगर विकास मंत्री को निदेशित किया की यह काफी ज्वलंत मुद्दा है और इसका निदान जरूरी है।उन्होंने मंत्री को 26 जुलाई को पूरी रिपोर्ट सदन में प्रस्तुत करने का निदेश दिया।तब जाकर हंगामा कर रहे सदस्य शांत हुए।

Find Us on Facebook

Trending News