बिहार विधानसभा चुनाव में मिली हार का कारण पता करने में जुटी राजद, 2 जिलाध्यक्षों समेत 120 पदाधिकारियों को किया बाहर

बिहार विधानसभा चुनाव में मिली हार का कारण पता करने में जुटी राजद, 2 जिलाध्यक्षों समेत 120 पदाधिकारियों को किया बाहर

डेस्क... बिहार में विधानसभा चुनाव के दौरान तेजस्वी यादव के मुख्यमंत्री बनने और महागठबंधन के सरकार में आने की पुरजोर लहर थी, लेकिन नतीजे कुछ और आए। हालाकि महागठबंधन में शामिल राजद की पार्टी चुनाव परिणाम में सबसे बड़ी पार्टी के तौर पर सामने आई, लेकिन सरकार बनाने में असफल रही। कांटे की टक्कर में जीत एनडीए को मिली और चौथी बार सीएम का पद नीतीश कुमार ने फिर संभाला।

अब राष्ट्रीय जनता दल विधानसभा चुनाव में अपने हारे प्रत्याशियों से हार का कारण पूछ रही है। हालाकि वह विभिन्न स्तर पर भी हार की समीक्षा कर रहा है। फिलहाल राजद आलाकमान पूरी तरह से गंभीर है। दरअसल राजद विभिन्न स्तर पर समीक्षा कार अपनी उन कमियों को दूर करना चाहता है ताकि आगामी किसी भी चुनाव में फिर पराजय न भुगतनी पड़े। 


पार्टी के आधिकारिक सूत्रों के मुताबिक प्रत्याशियों की पुख्ता रिपोर्ट पर ही राजद ने हार का कारण बने दो जिला अध्यक्षों समेत 120 से अधिक पदाधिकारियों को बाहर का रास्ता दिखा दिया है। हार की समीक्षा जारी है। कुछ और पदाधिकारियों पर गाज गिराई जा सकती है। 

विशेष बात यह कि अधिकतर कार्रवाई उन पदाधिकारियों पर की गई है। जो राजद के कोर वोटर माने जाते है। उदाहरण के लिए सीतामढ़ी के हटाए गए जिला अध्यक्ष मुस्लिम और दरभंगा जिला के अध्यक्ष यादव थे। 

Find Us on Facebook

Trending News