बिहार विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए विपक्ष ने पहले किया नामांकन, तेजस्वी ने कहा- एनडीए को भी समर्थन करना चाहिए

बिहार विधानसभा अध्यक्ष पद के लिए विपक्ष ने पहले किया नामांकन, तेजस्वी ने कहा- एनडीए को भी समर्थन करना चाहिए

पटना.... बिहार विधानसभा में अध्यक्ष पद के लिए महागठबंधन की तरफ से सिवान सदर के विधायक अबध बिहारी चौधरी को प्रत्याशी बनाया गया है। तेजस्वी यादव ने जानकारी देते हुए कहा कि महागठबंधन की बैठक के बाद यह निर्णय लिया गया, जिसके बाद नामांकन किया गया। तेजस्वी ने बताया कि नामांकन करने से पहले महागठबंधन की बैठक हुई, जिसमें राजद, कांग्रेस और वाम दल के सभी नेता मौजूद रहे और सभी ने अबध बिहारी चौधरी के नाम पर एकसाथ मुहर लगया। उनके नाम पर मुहर लगने के बाद तेजस्वी ने अपने बयान में कहा कि अबध बिहारी चौधरी पर एनडीए को भी समथर्न करना चाहिए।

तेजस्वी यादव ने बताया कि अबध बिहारी चौधरी अनुभवी हैं, कई बार विधानसभा के सदस्य रहे हैं, मंत्री रहे हैं और वर्तमान में राजद के स्टेट पार्लियामेंट्री बोर्ड के अध्यक्ष हैं। नामांकन करने के लिए जो भी औपचारिकता है वो हमने पूरा किया है। हमलोगों को विश्वास है कि हमारी जीत होगी। उन्होंने कहा कि बिहार विधानसभा का अध्यक्ष पद बहुत ही अहम होता है। अध्यक्ष पद पर जो भी बैठता है उसे पार्टी से ऊपर उठकर सोचना होता है। सभी दलों के सदस्यों के साथ-साथ बिना भेदभाव किए हुए स्पीकर को काम करना होता है। इसके लिए अबध बिहारी चौधरी इस पद के लिए सर्वाधिक उम्मीदवार पेश किया है पूरा भरोसा है कि हमलोग विश्वास जीतने में कामयाब होंगे। 


हमारे पास समर्थन होगा और सभी से हम बात भी कर लेंगे। इनका पहला नामांकन हुआ है आगे देखते हैं कोई और दूसरा नामांकन होता है या नहीं। मैं तो सत्तापक्ष से भी यही अपील करुंगा कि अध्यक्ष पद पर उन्हें ही बैठाएं जो ईमानदार हो और अबध बिहारी स्पीकर पद के लिए सर्वाधिक उपयुक्त है। 

तेजस्वी ने नीतीश पर हमला करते हुए कहा कि नीतीश कुमार पर मैं ज्यादा नहीं बोलूंगा, क्योंकि हमने उनका काम देखा है। नीतीश कुमार जी का काम सिर्फ भ्रष्टाचारियों को सरंक्षण देना है, फिर चाहे वो सृजन घोटाला हो या फिर बालिका गृहकांड हो। बिहार में 60 बड़े घोटाले हैं, लेकिन अब तक किसी भी दोषियों का न मिलना आश्चर्य की बात है। तेजस्वी यादव ने कहा कि जब 60 घोटाले हुए हैं तो फिर कोई न कोई दोषी होगा। 

वहीं नवरूणा कांड मामले में सीबीआई के हाथ खड़े कर लेने के मामले में तेजस्वी ने कहा कि आखिर दोषी कौन है। हम तो यही कहना चाहते हैं कि जो नवरूणा कांड हुआ उसमें दोषी कौन है। इस कांड में बड़ी मछलियों को छोड़ दिया गया। कार्रवाई तो होनी चाहिए। तेजस्वी ने कोरोना के बढ़ते मामले को लेकर भी कहा कि राज्य में जांच की व्यवस्था है भी कि नहीं, मुझे इस पर डाउट हो रहा है। 

Find Us on Facebook

Trending News