बिहार का अब होगा अपना दंगा निरोधी बल, 55 कंपनियां होंगी तैयार

बिहार का अब होगा अपना दंगा निरोधी बल, 55 कंपनियां होंगी तैयार

PATNA : राज्य में दंगा से निपटने के लिए केन्द्रीय सुरक्षा बल की जरुरत नहीं होगी। अब जल्द ही बिहार पुलिस का अपना दंगा निरोधी बल होगा। इसे लेकर तैयारी शुरु कर दी गई है। नए साल में नई फोर्स तैयार हो जाएगी। 

उपद्रवियों से निपटने के लिए बनाए जा रहे इस विशेष पुलिस बल की ट्रेनिंग शुरू हो चुकी है। प्रशिक्षण कुछ इस कदर दिया जा रहा है कि कम से कम बल प्रयोग कर भीड़ को नियंत्रित कर लिया जाए। इस बल की वर्दी और टोपी का रंग अलग होगा। हालांकि बैज वही होगा जो बीएमपी और जिला पुलिस का होता है। पुलिस मुख्यालय की निगरानी में दंगा निरोधी बल की कुल 55 कंपनियां तैयार होंगी।

दंगा निरोधी कंपनी को रैपिड एक्शन फोर्स की तर्ज पर तैयार किया जा रहा है। एक महीने के विशेष प्रशिक्षण के लिए जमशेदपुर स्थित रैफ के बटालियन मुख्यालय में ट्रेनरों को तैयार किया गया है। इन्हीं की देखरेख में ट्रेनिंग चल रही है। विशेष प्रशिक्षण का मकसद भीड़ को नियंत्रित करने के दौरान जानमाल का कम से कम नुकासान हो। इसमें हथियारबंद जवान की संख्या कुल जवानों की एक तिहाई ही होगी। रैफ में हर 15 जवानों में मात्र 5 के पास हथियार होता है। बिहार पुलिस की दंगा निरोधी कंपनी इसी तरह की होगी।

इस नये विशेष पुलिस बल के लिए अलग से बहाली नहीं होगी। बीएमपी और जिला पुलिस के जवानों से ही दंगा निरोधी कंपनियां बनाई जा रही है। बीएमपी के अलावा जिला पुलिस बल में भी इसका गठन किया जाएगा। फिलहाल बीएमपी की तीन बटालियन को इसके लिए चुना गया है। बीएमपी की 6, 7 और महिला बटालियन को दंगा निरोधी बटालियन के रूप में जाना जाएगा। 

Find Us on Facebook

Trending News