बिहार के लाल का फिल्म भोजपुरी इंजस्ट्री में बजा डंका, पहली ही फिल्म से चलाया लोगों पर जादू

बिहार के लाल का फिल्म भोजपुरी इंजस्ट्री में बजा डंका, पहली ही फिल्म से चलाया लोगों पर जादू

KATIHAR: जिले के लाल ने भोजपुरी फिल्म इंडस्ट्री में मचा दिया धमाल. राकेश सिन्हा ने पहले ही प्रयास में भोजपुरी फिल्म बनाकर जीता बेस्ट डेब्यू डायरेक्टर का अवॉर्ड. जिले के लालकोठी मोहल्ले के रहने वाले हैं राकेश सिन्हा, जिनके सम्मान से मोहल्ले के साथ साथ कटिहार का मान बढ़ा है. राकेश को हाल ही में आयोजित अयोध्या फिल्म महोत्सव में दिल्ली प्रेस ने उनके बहुचर्चित फिल्म ‘जुग जुग जिया हो ललनवा’ के लिए ‘बेस्ट डेब्यू डायरेक्टर’ के अवार्ड से नवाजा है. 

हमेशा जिंदगी में लीक से हटकर, कुछ अलग करने की जुनून ने राकेश को ऊंची पहचान दी. 25 सालों से राकेश फिल्म इंडस्ट्री से जुड़े हुए हैं. 1990 में इंजीनियरिंग की पढ़ाई करने गए राकेश बिहार एसोसिएशन जुड़कर एक्टर के काम करने लगे. उन्हें पहला ब्रेक तमिल के बहुचर्चित सीरियल ‘कृष्णदासी’ के रूप में मिला था जहां उन्होनें विलेन का रोल निभाया था. उसके बाद राकेश ने तमिल, तेलुगू, कन्नड़ के बाद श्रीलंका के टीवी इंडस्ट्री के सबसे मेगा सीरियल का सिंगला भाषा में निर्माण किया. श्रीलंका के मेगा धारावाहिक ‘वसुधा’ के कुल एक हजार एपिसोड प्रसारित हुए. इसके अलावा राकेश बांग्ला और भोजपुरी सीरियल में भी डायरेक्टर काम कर चुके हैं. दूरदर्शन में प्रसारित "सौ भाइयों की लाडली" से उन्हें काफी शोहरत मिली. 

मलेशिया और सिंगापुर में भी सीरियल बना चुके राकेश को उनके एक मित्र ने प्रस्ताव दिया. जिसपर अमल कर उन्होनें पहली बार भोजपुरी फिल्म का निर्देशन किया. अपनी पहली ही फिल्म "जुग जुग जियो हो ललनवा" के लिए उन्हें बेस्ट डेब्यू डायरेक्टर का सम्मान मिला. राकेश फिलहाल कुछ दिनों के लिए अपने घर कटिहार आए हुए हैं, जहां उन्होंने अपने आगे की योजना पर भी बातें की. राकेश चाहते हैं कि बिहार में भी यूपी के तर्ज पर कलाकारों को पेंशन स्कीम से जोड़ा जाए. कला जगत को विकसित करने की कोई ठोस पहल की जाए ताकि प्रतिभाओं से भरे बिहार में भी फिल्म इंडस्ट्री विकसित हो सके.

Find Us on Facebook

Trending News