बिक्रम की निकम्मी पुलिस ! बड़े अपराधी की बात छोड़िए अदना सा 'चोर' भी नहीं पकड़ा रहा, 10 दिन बाद भी चोरी के एक भी केस का नहीं हुआ खुलासा

 बिक्रम की निकम्मी पुलिस ! बड़े अपराधी की बात छोड़िए अदना सा 'चोर' भी नहीं पकड़ा रहा, 10 दिन बाद भी चोरी के एक भी केस का नहीं हुआ खुलासा

PATNA: पटना में अपराध रोकना अब पुलिस के बूते की बात नहीं। हत्या समेत चोरी का ग्राफ इतनी तेजी से बढ़ा है जिससे लोग भयाक्रांत हैं।जिले के बिक्रम थाना क्षे्त्र के लोग चोरों के आतंक त्राहिमाम कर रहे। स्थिति ऐसी हो गई है कि लोग रतजग्गा करने पर मजबूर हैं। पुलिस का कहीं कोई नामोनिशान नहीं है। बिक्रम की पुलिस सिर्फ केस दर्ज कर अपनी जिम्मेदारी से मुक्त हो जा रही । दस दिन पहले एक रात  दर्जन भर घर-दुकानों में चोरी की गई। लेकिन बिक्रम पुलिस एक भी मामले का खुलासा नहीं कर सकी। इथना ही नहीं बिक्रम पुलिस ने गोपनीय जानकारी को भी लीक कर दिया। ऐसे में बिक्रम पुलिस को जानकारी देने से पहले सौ दफे सोच-विचार कर लें। अन्यथा लेने के देने पड़ सकते हैं. 

अदना सा 'चोर' भी नहीं पकड़ा रहा

बिक्रम में चोरी की घटना से दुकानदार परेशान हैं. लोग रतजग्गा करने पर मजबूर हैं फिर भी चोरी की घटना नही रुक रही हैं.बिक्रम के महजपुरा में 12-13 अगस्त की रात्रि एक घऱ का ताला तोड़कर लाखों के गहने और नकद की चोरी कर ली गई। उसी रात थाने से महज चार सौ ग़ज़ की दूरी पर स्थित आयरन मार्केट में सेजल ग्रामेन्टस,अंशु हार्डवेयर,शिव शंकर मेडिको, मां शक्ति कम्प्यूटर,ओम साई ज्वेलर्स, चंदन किराना दुकान से शटर-किवाड़ उखाड़कर दुकान के गल्ले में रखे नगद राशि सहित लाखो की समान चोरी कर ली है.वहीं इसी थाना क्षेत्र के महजपुरा गांव दो घऱों में चोरी कर ली। चोरों ने घर से लाखों के गहने व रू चुरा लिया । सूचना के बाद पुलिस तो पहुंची और जांच का कोरम पूरा कर चली गई। सबकुछ लुटने के बाद परिवार बेबस बना है। चोर आराम से चोरी किया तो पुलिस भी केस दर्ज करने का कोरम पूरा कर लिया।   

10 दिन से अधिक हो गये। लेकिन बिक्रम की निकम्मी पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की। चोरी का एक भी केस का उद्भेदन बिक्रम थाने की पुलिस नहीं कर सकी। सिर्फ केस दर्ज कर पुलिस ने अपना काम पुरा कर लिया। पूछने पर बिक्रम थाने की पुलिस के पास कोई जवाब नहीं है। पालीगंज के एसडीपीओ के पास भी इस मामले में कहने को कुछ खास नहीं। जिनकी संपत्ति चोरी गई उन लोगों ने मान लिया पुलिस के बस में चोरों को पकड़ना नहीं। पुलिस तो सिर्फ दिखावे के लिए और अवैध वसूली के लिए ही है। 

सुमित की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News