BREAKING NEWS : हाथी दांत की तस्करी में गिरफ्तार हुए भाजपा के कार्यकारी जिलाध्यक्ष, चिरायु अस्पताल में वन विभाग ने की कार्रवाई

BREAKING NEWS : हाथी दांत की तस्करी में गिरफ्तार हुए भाजपा के कार्यकारी जिलाध्यक्ष, चिरायु अस्पताल में वन विभाग ने की कार्रवाई

PATNA :  बड़ी खबर राजधानी पटना के पटनासिटी से है। जहां वन विभाग ने राजधानी के एक हॉस्पिटल में छापेमारी की है। वन विभाग ने यह छापेमारी पटनासिटी स्थित धनकी मोड़ स्थित चिरायु हॉस्पिटल में की है। यहां गुप्त सूचना के आधार पर  वन बिभाग की टीम ने कार्रवाई करते हुए 35 किलो हाथी दांत बरामद किया है। इस कार्रवाई में वन विभाग ने अस्पताल के एक डॉक्टर सहित तीन लोगों को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार डॉक्टर का नाम ज्योति कुमार बताया गया है। जानकारी के अनुसार डॉक्टर ज्योति कुमार हाजीपुर भाजपा के कार्यकारी जिलाध्यक्ष हैं।  वहीं अन्य आरोपियों में एक डॉक्टर के ड्राइवर और एक बिचौलिया है। कार्रवाई के बाद तीनों आरोपियों को वन संरक्षण अधिनियम के तहत प्राथमिकी दर्ज कर जेल भेज दिया गया है।

बताया गया कि तस्करी में गिरफ्तार किए डॉक्टर ज्योति कुमार को हाजीपुर भाजपा की कमान यहां जिलाध्यक्ष रहे रमेश कुशवाहा के निधन के बाद दी गई थी। इससे पहले वो काफी दिनों तक पार्टी में महामंत्री के पद पर भी रहे हैं। इनकी गिरफ्तारी के बाद अब कई सवाल खड़े हो गए हैं। वन विभाग को अंदेशा है कि भाजपा नेता के अलावा कई और बड़े नाम इस तस्करी में शामिल हो सकते हैं। गिरफ्तार किए गए अन्य आरोपियों में बंटी और रविरंजन शामिल हैं। फिलहाल सभी आरोपियों को पूछताछ के लिए पाटलीपुत्र थाने में रखा गया है।

पालतु हाथी होने का बहाना

इससे पहले वन विभाग को यह सूचना मिली कि बाइपास स्थित चिरायु अस्पताल में हाथी दांत की तस्करी की जा रही है। जिसके बाद डीएफओ रूचि सिंह के नेतृत्व में हॉस्पीटल में छापेमारी की गई। जिसमें मौके पर डॉक्टर सहित तीन लोग हाथी दांत के साथ रंग हाथ पकड़े गए। पूछताछ में बताया गया कि डॉक्टर ही इसमें मुख्य आरोपी है। गिरफ्तार डॉक्टर ने बताया  कि उनके पास दो हाथी थे, जिनकी चार साल पहले मौत हो गई थी, यह दांत उनके ही हैं। इस दौरान जब उनसे हाथी पालने का लाइसेंस मांगा गया, जो उनके पास नहीं था।

इस कार्रवाई को लेकर डीएफओ ने बताया कि सभी को पूछताछ के लिए रिमांड पर लेने की तैयारी है। संभावना है कि इस तस्करी में कई बड़े सफेदपोश शामिल हो सकते हैं। जो पूछताछ में सामने आ सकते हैं।


Find Us on Facebook

Trending News