मोकामा जीतने के लिए भाजपा पहली बार कर रही इस तरह का चुनाव प्रचार, हर मतदाता को साधने की बनाई अनोखी रणनीति

मोकामा जीतने के लिए भाजपा पहली बार कर रही इस तरह का चुनाव प्रचार, हर मतदाता को साधने की बनाई अनोखी रणनीति

MOKAMA : मोकामा विधानसभा उपचुनाव में भाजपा प्रत्याशी सोनम देवी के लिये  भाजपा के कई बड़े नेता चुनाव प्रचार में उतरे हुए हैं। बीते दिन पूर्व उपमुख्यमंत्री रेणु देवी,दरभंगा विधायक संजय सरोजी, बेगूसराय विधायक कुंदन कुमार, बिहपुर विधायक कुमार शैलेंद्र, नेता प्रतिपक्ष अध्यक्ष विजय कुमार सिन्हा, भाजपा प्रवक्ता मनोज शर्मा और पूर्व मुंगेर सांसद वीणा देवी वोट मांगने मैदान में उतरी। 

मोकामा विधानसभा क्षेत्र में वर्ष 1995 के बाद पहली बार भाजपा ने उम्मीदवार उतारा है। साथ ही राज्य में नीतीश कुमार के एनडीए से अलग होकर महागठबंधन संग सरकार बनाने के बाद विपक्ष में आई भाजपा परिवार पहली बार चुनाव मैदान में उतरी है। ऐसे में यह चुनाव भाजपा के लिए प्रतिष्ठा का विषय बना हुआ है। वर्ष 2005 से मोकामा से विधायक अनंत सिंह की पत्नी नीलम देवी इस बार राजद उम्मीदवार हैं।  मोकामा मैं कमल खिलाने के लिए भाजपा ने पूरी जोर आजमाइश लगा रखी है। भाजपा के चुनाव प्रचार की रणनीति में हर वर्ग और जाति के मतदाताओं को साधने की कोशिश देखी जा रही है। 

इसके लिए अलग अलग नेताओं को उनके जातीय प्रभाव वाले इलाकों में चुनाव प्रचार के लिए उतारा गया है। पिछड़ा समुदाय से आने वाली रेणु देवी मोकामा टाल के इलाकों में प्रचार कर रही हैं। वहीं वैश्य वर्ग से आने वाले संजय सरावगी को मोकामा बाजार के व्यापारी वर्ग को साधने की कोशिश में देखा जा रहा है। नेता प्रतिपक्ष विजय सिन्हा तमाम भूमिहार बहुल इलाकों में घूम घूम कर प्रचार कर रहे हैं। इंजीनियर शैलेंद्र का ससुराल मोकामा के डुमरा गांव में है। वे अपने ससुराल के आसपास के पंचायत और गांवों को साधने में लगे हैं। वहीं पूर्व सांसद वीणा देवी खुद को मोकामा की बहू बताकर मतदाताओं से सोनम देवी के लिए वोट मांग रही हैं। वे सोनम को अपनी गोतनी (देवरानी) बताकर चुनाव प्रचार कर रही हैं। उनके पति सूरजभान सिंह ने भी खुद मोर्चा संभाल रखा है। 


इनके अलावा पिछले दिनों केंद्रीय राज्य मंत्री नित्यानंद राय और रामकृपाल यादव भी मोकामा आ चुके हैं। वे कई यादव समुदाय के नेताओं  और लोगों से मिले थे। भाजपा प्रदेश अध्यक्ष संजय जायसवाल कई बार मोकामा आ चुके हैं। वे लगातार बूथ स्तर के पदाधिकारियों और पार्टी कार्यकर्ताओं को टास्क दे रहे हैं। मोकामा में वोट बैंक के लिहाज से अहम पासवान जाति को साधने के लिए पशुपति पारस और चिराग पासवान के संदेश इस वर्ग तक पहुंचाया जा रहा है।

हालांकि अभी तक किसी भी नेता की जनसभा यहां नहीं हुई है। पार्टी सूत्रों का कहना है कि भाजपा की कोशिश हर मतदाता तक पहुंचने की है। इसलिए माइक्रो लेबल पर चुनाव प्रचार को पंचायत, गांव, टोला, मोहल्ला में बांटकर हर वर्ग और हर घर तक पहुंचने की कोशिश की जा रही है। मोकामा में 3 नवंबर को उपचुनाव के लिए मतदान होगा।

Find Us on Facebook

Trending News