टिकट देने में एनडीए के सहयोगियों ने खेला बराबरी का खेल, जानिए बीजेपी, जेडीयू और एलजेपी में क्या है समानता

PATNA : बीजेपी–जदयू और एलजेपी में भले ही लोकसभा सीटों की संख्या में अंतर हो,लेकिन एक बात में तीनों सहयोगियों ने बराबरी का खेल खेला है। जदयू –बीजेपी और एलजेपी ने आधी आबादी को सीटों की संख्या में बराबर-बराबर हिस्सेदारी दी है।

तीनों दलों ने1-1महिला को बनाया उम्मीदवार 

बिहार एनडीए में शामिल तीनों घटक दलों ने महिला के इश्यू पर पूरी तरह से समानता रखा है।तीनों दल से एक-एक महिला को उम्मीदवार बनाया गया है। बीजेपी ने तीसरी बार रमा देवी को शिवहर का प्रत्याशी बनाया है। रमा देवी 2009 में राजद छोड़कर बीजेपी ज्वाईन की थीं और बीजेपी नें उन्हें शिवहर से टिकट दिया था। रमा देवी पहली बार बीजेपी के टिकट पर 2009 में चुनाव जीतीं थी। इसके बाद 2014 में भी जीत हासिल की है।इसके बार फिर से बीजेपी ने 2019 में अपना उम्मीदवार बनाया है।

जदयू के लिए कविता सिंह चलायेंगी तीर

जदयू नें अपने महिला विधायक कविता सिंह को सीवान से उम्मीदवार बनाया है।कविता सिंह सीवान के दरौंदा से जदयू विधायक हैं।पार्टी नें उन्हें सीवान से सिंबल देकर मैदान में उतारा है।

झोपड़ी के भरोसे  वीणा देवी

एनडीए की तरफ से तीसरी महिला प्रत्याशी एलजेपी ने दिया है। एलजेपी ने वहां से पूर्व विधायक वीणा देवी को मैदान में उतारा है। वीणा देवी मुजफ्फरपुर के गायघाट से बीजेपी से चुनाव जीती थी लेकिन 2015 के चुनाव में हार का सामना करना पड़ा था। एलजेपी ने उन्हें वैशाली लोकसभा क्षेत्र से मैदान में उतारा है।

Find Us on Facebook

Trending News