विधानपरिषद चुनाव को लेकर भाजपा-जदयू की बैठक, जानें कैसे होगा सीटों का बंटवारा

विधानपरिषद चुनाव को लेकर भाजपा-जदयू की बैठक, जानें कैसे होगा सीटों का बंटवारा

PATNA : बिहार में पंचायत चुनाव खत्म हो चुके हैं और आगामी तीन जनवरी तक जिला परिषद और प्रखंड पंचायत समितियों के चुनाव भी संपन्न करा लिए जाएंगे। ऐसे में पिछले छह माह से खाली पड़ी बिहार विधान परिषद की 24 सीटों को लेकर मंथन शुरू हो गया  है। इन सीटों पर होनेवाले चुनाव को लेकर एनडीए के दो सबसे बड़े घटक दलों भाजपा और जदयू की बैठक आयोजित की गई। जहां चुनाव को लेकर बातचीत हुई। यह बातचीत मंगलवार को कैबिनेट की बैठक के बाद मुख्यमंत्री नीतीश कुमार (CM Nitish Kumar) की मौजूदगी में हुई। इसमें जदयू की ओर से शिक्षा मंत्री विजय कुमार चौधरी और भाजपा की ओर से प्रदेश अध्यक्ष डा. संजय जायसवाल व उप मुख्यमंत्री तारकिशोर प्रसाद शामिल हुए। 

12-12 सीटों पर बनी सहमति

विधान परिषद के 24 रिक्त पदों में से जदयू ने 12 यानी आधी सीटों पर चुनाव लड़ने की इच्छा जाहिर की है। वहीं भाजपा के हिस्से में भी 12 सीटें आएंगी। सूत्रों ने बताया कि भाजपा और जदयू के बीच सीटों के लिए विवाद नहीं होगा। ऐसी ही समस्या 2019 के लोकसभा और 2020 के विधानसभा चुनाव के समय भी आई थी। जदयू ने 2009 के लोकसभा और 2015 के विधानसभा चुनाव में जीती अपनी कई सीटों पर दावा किया। भाजपा इसे देने पर सहमत भी हो गई। दोनों दलों ने एक दूसरे के लिए अपनी जीती हुई सीटें भी छोड़ी थी।

हम, वीआईपी और लोजपा पर भी हुआ विचार

जहां एक तरफ दोनों प्रमुख पार्टियों ने 12-12 सीटों पर अपनी दावेदारी की है। वहीं पेच गठबंधन में शामिल हम, वीआईपी और लोजपा को लेकर फंसता हुआ नजर आ रहा है। चुनाव में इन दलों ने अपने हिस्सेदारी की मांग की है। ऐसे में इन दलों को संतुष्ट करना भी जरुरी है। संभावना जताई जा रही है कि जिस तरह से विधानसभा चुनाव में भाजपा और जदयू ने अपने कोटे की कुछ सीटें हम और वीआईपी को दी थी, संभव है कि भाजपा और जदयू आपस में सीटें बांट कर इन दलों के लिए अपने-अपने कोटे से कुछ सीटें दे दे। जहां तक पशुपति कुमार पारस की अगुआई वाली लोजपा का सवाल है, उसे एक सीट देने पर सहमति बन चुकी है।


Find Us on Facebook

Trending News