जातीय जनगणना पर सियासी हावी : बीजेपी नेता सीपी ठाकुर ने पीएम मोदी से मिलने गये प्रतिनिधि मंडल पर लगाया राजनीति करने का आरोप, तो बिहार बीजेपी पर क्या सोचते हैं ठाकुर

जातीय जनगणना पर सियासी हावी : बीजेपी नेता सीपी ठाकुर ने पीएम मोदी से मिलने गये प्रतिनिधि मंडल पर लगाया राजनीति करने का आरोप, तो बिहार बीजेपी पर क्या सोचते हैं ठाकुर

Desk. जातीय जनगणना को लेकर लगातार सियासी बयानबाजी हो रही है. इसको लेकर बिहार में सियासत का पार चढ़ा हुआ है. इस बीच भाजप के कद्दावर नेता और पूर्व केंद्रीय मंत्री सीपी ठाकुर ने जातयी जनगणना को लेकर बयान दिया है. उन्होंने जातीय जनगणना का विरोध करते हुए कहा कि इसकी कोई जरूरत नहीं है. साथ ही उन्होंने बिहार से पीएम मोदी से मिलने गये प्रतिनिधि मंडल पर निशाने साधते हुए कहा कि वे लोग राजनीति कर रहे हैं.

बता दें कि जातीय जनगणना को लेकर बिहार के सीएम नीतीश कुमार के नेतृत्व में दस राजनीतिक दलों के प्रतिनिधियों ने पीएम मोदी से मुलाकत की थी. इस प्रतिनिधि मंडल में बीजेपी से रमई राम भी थे. इस बैठक को लेकर सीएम नीतीश ने बताया था कि पीएम मोदी से सकारात्मक बात हुई है. अब पीएम मोदी के फैसले के इंताजर हैं. वहीं विपक्षी दल भी सीएम नीतीश की बात को समर्थन कर रहे हैं.

सत्ता और विपक्ष दोनों के सुर एक

आमतौर पर देखा जाता है कि किसी भी मुद्दे पर सत्ताधारी दल और विपक्षी दल ध्रुव के दो अलग-अलग किनारे होते हैं. जो सत्ता पक्ष चाहते हैं, वपक्ष का उससे अलग राय होता है. लेकिन बिहार में जातीय जनगणना पर सत्तापक्ष और विपक्ष दोनों की एक ही राय है. सत्ताधारी दल में बीजेपी का स्टैंड कभी ना कभी हां का है, लेकिन जदयू पूरी तरह से इस मुद्दे पर विपक्ष के साथ है.

बीजेपी के बारे में क्या कहना है सीपी ठाकुर का

सीपी ठाकुर ने जातीय जनगणना का विरोध करते हुए कहा कि बिहार से पीएम मोदी से मिलने गये प्रतिनिधि मंडल राजनीति कर रहा है. इस प्रतिनिधि मंडल में बिहार बीजेपी के भी एक नेता थे, तो क्या सीपी ठाकुर बीजेपी को भी कह रहे हैं, कि बीजेपी जातयी जनगणना पर राजनीति कर रहे हैं.

अब आगे देखना होगा कि राजनीति में जातीय जगणना का ऊंट किस करवट बैठता है. फिलहाल इस पर बिहार में सियासी पार गर्म है. हर पार्टी अपने-अपने हिसाब से राजनीति करने में जुटी है. अब देखना होगा कि इस पर सियासी पार कितना चढ़ता है.

Find Us on Facebook

Trending News