भाजपा विधायक ज्ञानू का दावा, बिहार में भाजपा है नेताविहीन

भाजपा विधायक ज्ञानू का दावा, बिहार में भाजपा है नेताविहीन

पटना. भाजपा विधायक ज्ञानेंद्र सिंह ज्ञानू ने अपने ही दल को नेताविहीन बताकर हडकंप मचा दिया है. उनका कहना है कि बिहार में भाजपा नेताविहीन है. मौजूदा समय में बिहार भाजपा में जो भी शीर्ष के नेता हैं उन सबकी नेतृत्व क्षमता पर ज्ञानू ने सवाल उठा दिया है. 

शनिवार को न्यूज़ 4 नेशन से विशेष बातचीत में ज्ञानू अपनी पार्टी भाजपा पर जमकर बरसे. उन्होंने कहा, बिहार भाजपा में दो ही नेता हुए- एक कैलाशपति मिश्र और दूसरे सुशील मोदी. कैलाशपति मिश्र दिवंगत हो चुके हैं तो सुशील मोदी को बिहार से दिल्ली भेजकर मानो उन्हें अडवाणी और मुरली मनोहर जोशी की श्रेणी में मार्गदर्शक मंडल में भेज दिया गया हो.  

विधानसभा के शीतकालीन सत्र में भाजपा के जीवेश मिश्रा, संजय सरावगी और निक्की हेम्ब्रम के साथ हुए वाकयों का जिक्र करते हुए ज्ञानू मोदी को डायनेमिक नेता बताते हुए पिछले दिनों जो भी हुआ उसका मूल कारण बिहार में भाजपा का नेतृत्वविहीन होना है. 

बिहार में राजग गठबंधन की सरकार के भविष्य पर उन्होंने कहा कि बिहार सरकार से संबंधित जो भी निर्णय लेना है वह भाजपा का केन्द्रीय नेतृत्व लेगा. प्रधानमन्त्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री अमित शाह और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा सीधे नीतीश कुमार से बात करेंगे न कि इसमें बिहार के भाजपा नेताओं को कुछ बोलना करना है.

उन्होंने ओवैसी की पार्टी के विधायकों द्वारा बिहार विधानसभा में वंदे मातरम नहीं गाने पर कड़ा एतराज जताया. ओवैसी के विधायकों की निष्ठा पर सवाल किया. उन्होंने कहा कि हर किसी को वंदे मातरम का सम्मान करना चाहिए. 

Find Us on Facebook

Trending News