बिहार विधानसभा परिसर में कल भाजपा का प्रदर्शन, स्पीकर चौधरी पर लगाया गंभीर आरोप

बिहार विधानसभा परिसर में कल भाजपा का प्रदर्शन, स्पीकर चौधरी पर लगाया गंभीर आरोप

पटना. बिहार का पांच दिवसीय शीतकालीन सत्र हंगामेदार रहा। पूरे सत्र में भाजपा सारण शराबकांड पर चर्चा के लिए सरकार पर दवाब बनाती रही है। इस हंगामे के बीच कई विधेयक तो पास हो गये, लेकिन सदन में चर्चा ठीक तरह से नहीं हुई। अब विधानसभा के नेता प्रतिपक्ष विजय सिन्हा ने विधानसभा अध्यक्ष अवध बिहारी चौधरी पर गंभीर आरोप लगाया है। उन्होंने विधानसभा अध्यक्ष पर राजद प्रवक्ता की तरह व्यवहार करने का आरोप लगाया।

विजय सिन्हा ने  कहा की शराब कांड की न्यायिक जांच और मुआवजा के लिए हम लोग 21 दिसंबर को विधानसभा परिसर में धरना देंगे। उन्होंने कहा कि पांच दिनों के शीतकालीन सत्र में विपक्ष ने जनता के सवाल उठाएं, लेकिन विधायकों के साथ जो व्यवहार किया गया वह सही नहीं है। उन्होंने कहा कि बिहार विधानसभा अध्यक्ष का योजना भाषण का अपमान कर रहे थे। बिहार विधानसभा अध्यक्ष पक्षपात नहीं कर सकते हैं, यह गरिमा पूर्ण है।

बिहार विधानसभा में विपक्ष के द्वारा एक भी ध्यान आकर्षण स्वीकार नहीं करना, गलत है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार कुर्सी के लिए नियम के विपरीत बहुत कुछ समझौता कर रहे हैं। नीतीश कुमार सिर्फ दिखावे के लिए मुख्यमंत्री है। सरकार में तेजस्वी की बात चल रही है, यह दिख रहा है। सदन का सत्र के दौरान विधानसभा अध्यक्ष द्वारा विपक्ष के बोलने पर लगातार टोका टोकी करते रहना, इस तरह का व्यवहार सदन के अध्यक्ष का इतिहास में लिखा जाएगा। सदन में विपक्ष की बातों को रोकने के लिए इस तरह से अध्यक्ष के व्यवहार सही नहीं है।

बिहार को बर्बाद कर रहे नीतीश

वहीं विधान परिषद में विपक्ष का नेता सम्राट चौधरी ने कहा कि नीतीश कुमार ने शराबबंदी कानून अकेले नहीं किया। हमने भी समर्थन किया। आज भी कर रहे हैं, लेकिन जहां गलत है, वहां पर हम सरकार का विरोध करेंगे। महागठबंधन द्वारा चुनावी उम्मीदवार शराब से जुड़े हुए लोगों को बनाते हैं। नीतीश कुमार अहंकारी हो चुके हैं। भाजपा को बर्बाद करने की बात करते हैं। भाजपा बर्बाद नहीं होगी, लेकिन बिहार को वे बर्बाद कर रहे हैं।

Find Us on Facebook

Trending News