कांग्रेस की रैली पर बीजेपी का तंज, कहा-28 वर्षों बाद बिहार की आई याद, जबकि हम वर्षों करते रहे फरियाद

कांग्रेस की रैली पर बीजेपी का तंज, कहा-28 वर्षों बाद बिहार की आई याद, जबकि हम वर्षों करते रहे फरियाद

PATNA : 3 फरवरी को पटना में कांग्रेस की होनेवाली रैली और उसमें कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी के शामिल होने को लेकर बिहार भाजपा ने कड़ा प्रहार किया है। 

नित्यानंद राय ने कहा है कि ‘28 वर्षों बाद बिहार की आयी याद, जबकि हम वर्षों करते रहे फरियाद। कांग्रेस अध्यक्ष आदतन झूठे हैं, इसलिए जनता को फिर से बरगलाने की कोशिश कर रहे हैं, पर उन्हें होमवर्क ठीक से कर लेना चाहिए था। राहुलजी की दादी से लेकर खुद राहुलजी तक पुरातन काल से ‘गरीबी हटाओ’ का नारा देते आए हैं। इस हिसाब से तो आज कोई गरीब होना ही नही चाहिये था। कांग्रेस के शासनकाल में बिहार से गरीबी तो नहीं मिटी, पर पलायन और विस्थापन जरूर भरपूर हुआ।‘

55 वर्षो के शासन में सिर्फ किया विनाश

कांग्रेस की प्रस्तावित रैली को हताशा रैली करार देते हुए नित्यानंद ने कहा कि राहुल गांधी के पास न कोई योजना और न दृष्टि। वे सिर्फ जुबानखर्ची कर रहे है। उन्होंने कहा कि बिहार में कांग्रेस का प्रत्यक्ष शासन 1990 तक मोटामोटी मान लें, तो उसके बाद भी वह राजद के साथ साझीदारी में जूनियर पार्टनर के तौर पर शामिल रही है। कांग्रस अध्यक्ष को यह बताना चाहिए कि लगभग 55 वर्षों के शासन में बिहार हरेक तरह से विकास के अंतिम पायदान पर कैसे पहुंच गया?’

कभी बिहारी होना था व्यंग्य का पर्याय

प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि एक समय ऐसा भी था, जब बिहार और बिहारी व्यंग्य और हास्य का पर्याय बन गए थे। नीतीशजी के नेतृत्ववाली राजग सरकार ने बड़ी मेहनत से इस परिदृश्य को बदला है। जब दशकों बाद राहुल गांधी बिहार में आ रहे हैं, तो बिहारी जनता को जरा इसका भी जवाब दें कि कांग्रेस का शासन बिहार में अधिकांश समय रहा, फिर शिक्षा, स्वास्थ्य और विकास के अन्य मानकों पर बिहार इतना पिछड़ा कैसे रह गया? ’

विवेकानंद की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News