उर्दू स्कूलों में शुक्रवार को छुट्टी का समर्थन करनेवाले जदयू के बड़े नेता को भाजपा ने कहा - बचपन को धर्म से बांटने की कोशिश बंद करें

उर्दू स्कूलों में शुक्रवार को छुट्टी का समर्थन करनेवाले जदयू के बड़े नेता को भाजपा ने कहा - बचपन को धर्म से बांटने की कोशिश बंद करें

PATNA : बिहार में कुछ स्कूलों में रविवार की जगह शुक्रवार को साप्ताहिक छुट्टी दिए जाने को लेकर भाजपा  और जदयू के बीच जुबानी जंग छिड़ी हुई है। जहां एक तरफ भाजपा के नेता उर्दू स्कूलों में शुक्रवार को साप्ताहिक छुट्टी दिए जाने को गलत बता रहे हैं। वहीं जदयू की तरफ से मोर्चा संभाल रहे उपेंद्र कुशवाहा उर्दू स्कूलों में सालो से चली आ रहे छुट्टी का खुला समर्थन कर रहे हैं। 

एक दिन पहले उपेंद्र कुशवाहा ने भाजपा नेताओं पर बड़ा हमला करते हुए कहा था कि जो लोग उर्दू स्कूलों में शुक्रवार की छुट्टी का विरोध कर रहे हैं, वह पहले बताएं कि संस्कृत कॉलेजों में हरेक महीने प्रतिपदा व अष्टमी को छुट्टी क्यों होती है? नहीं मालूम है तो कामेश्वर सिंह दरभंगा संस्कृत विश्वविद्यालय के कैलेंडर को देखकर ज्ञान बढ़ाएं। उनके अनुसार उर्दू विद्यालयों में शुक्रवार को छुट्टी बिल्कुल स्वाभाविक है।

भाजपा की तरफ से कुशवाहा को मिला जवाब

संस्कृत विवि में प्रतिपदा व अष्टमी की छुट्टी की तुलना उर्दू स्कूलों  की छुट्टी से करने को लेकर उपेंद्र कुशवाहा को भाजपा की तरफ से करारा जवाब दिया गया है। भाजपा नेताओं को ज्ञान बढ़ाने की सलाह देनेवाले जदयू नेता के लिए भाजपा प्रवक्ता अरविंद सिंह ने कहा कि वह एक धर्म के लिए प्रवचन करना बंद करें। अरविंद सिंह यह पर नहीं रूके। उन्होंने कहा कि जिस संस्कृत विवि की उन्होंने बात की है, उसके विवि के नियमों से चलता है, उसमें सरकार का दखल नहीं होता है। जबकि स्कूल राज्य सरकार के नियमों से संचालित होता है और कहीं भी इस बात का जिक्र नहीं है कि स्कूलों में धर्म के आधार पर साप्ताहिक अवकाश दिया जाए

वोट के लिए बंद करें समर्थन

अरविंद सिंह ने कहा स्कूल वह जगह होती है, जहां से बच्चों को नई शिक्षा मिलती है। लेकिन जदयू के नेता की बातों से लगता है कि वह बच्चों के मन में बचपन  से धर्म को लेकर अलग सोच पैदा करने की कोशिश कर रहे हैं। स्कूलों में अलग अलग दिन साप्ताहिक छुट्टी करना इस दिशा में पहला कदम है। 


Find Us on Facebook

Trending News