BJP-JDU ने भूमिहार समाज को दिखाया ठेंगा, नीतीश कैबिनेट विस्तार में नहीं दी जगह....

BJP-JDU ने भूमिहार समाज को दिखाया ठेंगा, नीतीश कैबिनेट विस्तार में नहीं दी जगह....

PATNA: बिहार में आज मंगलवार को नीतीश कैबिनेट का विस्तार किया गया। राजभवन में आयोजित समारोह में राज्यपाल फागू चौहान ने 17 मंत्रियों को पद एवं गोपनीयता की शपथ दिलाई है। भाजपा के वरिष्ठ नेता सैयद शाहनवाज हुसैन और JDU कोटे से श्रवण कुमार भी मंत्री बने हैं. अगर सामाजिक समीकरण की बात करें तो इस बार सबसे अधिक राजपूत बिरादरी के नेताओं को मंत्रिमंडल में जगह दी गई है।जबकि बीजेपी और जेडीयू ने भूमिहार समाज के विधायकों को ठेंगा दिखा दिया है।इस बार इस समाज को मंत्रिमंडल विस्तार में कोई जगह नहीं दी गई।

जानिए किस वर्ग को कितना प्रतिनिधित्व?

अगर सामाजिक समीकरण की बात करें तो सबसे अधिक राजपूत समाज के विधायकों को मंत्रिमंडल में जगह मिली है। राजपूत समाज से लेसी सिंह,नीरज कुमार सिंह, सुबाष सिंह और सुमित सिंह को मंत्री बनाया गया है। जबकि ब्रााह्मण समाज से आलोक रंजन झा और संजय झा मंत्री बने हैं। अल्पसंख्यक समाज से शाहनवाज हुसैन और जमां खान को मंत्री बनाया गया है। सहनी समाज से एक मदन सहनी को जगह दी गई है। कुशवाहा समाज से सम्राट चौधरी और जयंत राज मंत्री बने हैं। कुर्मी समाज से श्रवण कुमार,वैश्य से प्रमोद कुमार और नारायण प्रसाद को मंत्री बनाया गया है। दलित वर्ग से सुनील कुमार और जनक राम मंत्री बनाये गए हैं. वहीं कायस्थ समाज से नितिन नवीन मंत्री बने हैं.

बीजेपी-जेडीयू ने भूमिहार समाज से किसी नेता को नहीं बनाया मंत्री

हालां कि इस बार के कैबिनेट विस्तार में न तो बीजेपी और न जेडीयू ने भूमिहार वर्ग से किसी नेता को मंत्रिमंडल में जगह दी है।इस पर अब सवाल भी खड़े होने लगे हैं.



Find Us on Facebook

Trending News