सीएम नीतीश के कारकेड पर हमले की भाजपा प्रवक्ता ने की निंदा, मामले में अब तक 11 गिरफ्तार

सीएम नीतीश के कारकेड पर हमले की भाजपा प्रवक्ता ने की निंदा, मामले में अब तक 11 गिरफ्तार

पटना. जिले के गौरीचक थाना के सोहगी मोड़ पर शाम 5 बजे के क़रीब सड़क जाम कर रहे कुछ उपद्रवी तत्वों ने मुख्यमंत्री के खाली कारकेड की चार गाड़ियों पर पथराव कर दिया। इसकी सूचना मिलते ही जिलाधिकारी एवं वरीय पुलिस अधीक्षक घटनास्थल पर पहुंचे तथा लोगों को खदेड़ भगाया। वीडियो एवं सीसीटीवी फुटेज के आधार लोगों की पहचान कर अब तक 11 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। शेष लोगों को भी पहचान करने एवं गिरफ्तार करने की कार्रवाई चल रही  है। वहीं इस हमले की भाजपा प्रवक्ता निखिल आनंद ने निंदा की है। 

भाजपा प्रवक्ता निखिल आनंद ने कहा, "यह मुख्यमंत्री जी के कारकेड पर नहीं बल्कि मुख्यमंत्री पर निशाना है। यह घटना निंदनीय है। अगर बिहार के मुख्यमंत्री की सुरक्षा में चूक हो सकती है तो आम जनता की कौन पूछे! मुख्यमंत्री जी काफिले में अगर होते तो कोई बड़ी अप्रिय घटना घट सकती थी। मुख्यमंत्री जी स्वस्थ सुरक्षित रहें, हमारी कामना है लेकिन यह सिस्टम इस कदर फेल कैसे हो गया कि मुख्यमंत्री की सुरक्षा को ही दांव पर लगा दिया गया, यह हम सभी के लिए चिंता का प्रश्न है। बिहार के पुलिस प्रशासन के लोगों से अपील है कि मुख्यमंत्री के साथ-साथ जनता की सुरक्षा की चिंता करें, माफिया गिरोहों की कमर तोड़े और आम जनता को भयमुक्त करें।"

खाली कारकेड गया जा रहा था

दरअसल बीते 8 अगस्त को सावन की अंतिम सोमवारी के दिन गौरीचक थाना के सोहगी गांव का लगभग 20 साल का एक लड़का सन्नी कुमार अपने परिवार के साथ रात के लगभग 2 बजे गायघाट गंगा नदी के किनारे जल लेने गया था। उसके परिवार वालों ने सूचना दी थी कि सन्नी कुमार उसी समय से गायब हो गया था। पुलिस द्वारा उसकी लगातार खोज की जा रही थी । आज बादशाही नाला में उसकी लाश मिली जिसे पोस्टमार्टम के लिए एम्स भेजा गया था। मृतक सन्नी कुमार के परिजनों एवं अन्य लोगों  द्वारा रोड जाम किया गया था। इसी रोड जाम के दौरान सरकारी कारकेड गुजर रहा था जिस पर उपद्रवी तत्वों द्वारा पथराव किया गया।

ज़िलाधिकारी पटना ने मामले को अत्यंत गम्भीर से लेते हुए अपर ज़िला दंडाधिकारी विधि व्यवस्था और पुलिस उपाधीक्षक, मुख्यालय की दो सदस्यीय टीम गठित किया है और 24 घंटे के अंदर जांच प्रतिवेदन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया है। लापरवाही बरतने वाले पदाधिकारीयों के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की जाएगी।

Find Us on Facebook

Trending News