BJP प्रदेश महामंत्री ने नल-जल योजना पर उठाए सवाल, शिवानंद तिवारी बोले- खटपट की हो गई शुरुआत

BJP प्रदेश महामंत्री ने नल-जल योजना पर उठाए सवाल,  शिवानंद तिवारी बोले- खटपट की हो गई शुरुआत

PATNA : जेडीयू-बीजेपी के बीच चल रही खींचतान को लेकर राजद के वरिष्ठ नेता शिवानंद तिवारी ने बड़ा बयान दिया है। उन्होंने कहा है कि हमलोगों जो पिछले कई दिनों से यह कह रहे थे कि बिहार में सत्तासीन एनडीए के बीच सबकुछ ठीक नहीं चल रहा है। इसपर बीजेपी के महामंत्री के बयान ने मुहर लगा दी है। 

शिवानंद तिवारी ने कहा है कि बीजेपी के प्रदेश महामंत्री राजेन्द्र सिंह ने बिहार सरकार के कामकाज पर बड़ा सवाल उठाया है। प्रदेश में उनकी गठबंधन की सरकार है। ऐसे में राजेन्द्र सिंह द्वारा अपनी ही सरकार के कामकाज और कई विभागों में भारी भ्रष्टाचार की बात करना इस बात का स्पष्ट संकेत है कि जेडीयू-बीजेपी के खटपट जारी है। 

राजद के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ने कहा कि राजेन्द्र सिंह संघ से जुड़े है। बीजेपी में उनका कद काफी उंचा है। उनके द्वारा अपनी ही सरकार के उपर सवाल खड़ा किया जाना काफी मायने रखता है। 

वहीं उन्होंने कहा कि नीतीश कुमार के इफ्तार पार्टी को लेकर गिरिराज सिंह ने बड़े सवाल खड़ा किए। वहीं नीतीश जी द्वारा उसका जवाब भी दिया गया। दोनों दलों की ओर से इस मुद्दे को लेकर काफी बयानवाजी हुई। लेकिन कल शाहनवाज की इफ्तार पार्टी में बीजेपी के कई वरिष्ठ नेता शामिल हुए है। उसपर कोई सवाल नहीं हुए है। इससे आप साफ समझ सकते हैं कि बिहार एनडीए के अंदरखाने में क्या चल रहा है। 

बता दें कि बीजेपी ने प्रदेश महामंत्री राजेंद्र सिंह ने बिहार सरकार के महत्वाकांक्षी 'नल-जल योजना' पर सवाल खड़ा किया है। बुधवार को सासाराम में पानी की संकट को लेकर राजेन्द्र सिंह रोहतास जिलाधिकारी से मिलने गए थे। जिलाधिकारी से मुलाकात के बाद उन्होंने बिहार सरकार के नल-जल योजना को लेकर बड़ा बयान दिया। 

उन्होंने कहाकि बिहार सरकार की नल-जल योजना 'भ्रष्टाचार की जननी' बनकर रह गई है। सबसे ज्यादा अगर कहीं करप्शन है तो वह इस नल-जल योजना में है। सरकार द्वारा जो 'नल-जल योजना' चलाया गया। वह पूरी तरह से फेल हो गई है। आज पानी के लिए हाहाकार मचा हुआ है।  

राजेन्द्र सिंह ने कहा कि योजना के क्रियान्वयन में जमकर भ्रष्टाचार हुआ है। एक तरफ ठेकेदार नल और पाइप लगाते जा रहे हैं, वही दूसरी तरफ व खराब होता जा रहा है। शायद ही किसी पंचायत में नल-जल योजना सही तरीके से क्रियान्विवत हो सकी है। उन्होंने इस योजना में जिला स्तर पर व्यापक भ्रष्टाचार की शिकायत मिली है। 

पटना से देवांशु की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News