मोकामा विधानसभा उपचुनाव में आपराधिक छवि से मुक्त प्रतिनिधित्व देगी भाजपा, पार्टी ने शुरू की तैयारी

मोकामा विधानसभा उपचुनाव में आपराधिक छवि से मुक्त प्रतिनिधित्व देगी भाजपा, पार्टी ने शुरू की तैयारी

पटना. मोकामा विधानसभा उपचुनाव में आपराधिक छवि से मुक्त प्रतिनिधित्व देने के लिए भाजपा संकल्पित है. भाजपा नेता मनोज कुमार ने रविवार को इसकी घोषणा करते हुए कहा कि विधानसभा और बिहार में मोकामा की छवि बदलना ही हमारा उद्देश्य है. पिछले कई वर्षों से मोकामा की पहचान उसके निर्वाचित प्रतिनिधियों के कारण धूमिल हुई है. सत्ता की शीर्ष कुर्सी को पाने के लिए सीएम नीतीश और लालू यादव ने मोकामा को धोखा दिया. चुनाव दर चुनाव मोकामा से जानबूझकर आपराधिक छवि के लोगों को टिकट दिया गया जिस कारण मतदाताओं की मजबूरी थी कि वे नागनाथ और सांपनाथ में किसी को चुनने के लिए मजबूर थे. 

मोकामा विधानसभा के मोर ग्राम में बूथ नंबर 107 पर उपचुनाव के लिए भाजपा के संकल्प की शुरुआत की गई. मनोज कुमार ने बताया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के मन की बात सुनने के कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के तौर पर प्रदेश महामंत्री और दीघा विधानसभा से विधायक संजीव चौरसिया, जिला अध्यक्ष डॉक्टर सिया राम सिंह, मोकामा पश्चिमी मंडल अध्यक्ष सौरभ कुमार सहित कई भाजपा कार्यकर्ता और आम लोग उपस्थित रहे. 

इस दौरान मोकामा विधानसभा उपचुनाव को लेकर भी चर्चा की गई. मुख्य रूप से मोकामा को अपराध मुक्त छवि पेश करने का संकल्प लिया गया. इसके लिए आगमी चुनाव में ऐसे व्यक्ति को उम्मीदवार बनाया जाएगा जो साफ-सुथड़ी छवि के हों. पार्टी वर्ष 1995 के बाद मोकामा में कभी भी अपना उम्मीदवार नहीं दे पाई है. इस बार जन अपेक्षाओं के अनुरूप भाजपा मोकामा का चेहरा बदलेगी. यहां से जबरन जुड़ गए अपराधियों को हराया जाएगा. 

गौरतलब है कि 2020 में मोकामा विधानसभा से चुनाव जीते विधायक अनंत सिंह को एके 47 मिलने के मामले में कोर्ट ने 10 साल की सजा सुनाई है. इस कारण उनकी विधानसभा सदस्यता चली गई है. मोकामा में अगले कुछ महीने में चुनावहोगा. मोकामा में 1990 से 2000 तक दिलीप सिंह विधायक रहे जो अनंत सिंह के भाई थे. वहीं 2000 में बाहुबली सूरजभान सिंह चुनाव जीते. वहीं 2005 से लगातार अनंत सिंह विधायक रहे.

Find Us on Facebook

Trending News