प्रेमिका और प्रेमी के मोहब्बत में ब्लड बैंक का तड़का, खूनी इश्क के बुखार को उतारने में पुलिस वालों का छूटा पसीना

प्रेमिका और प्रेमी के मोहब्बत में ब्लड बैंक का तड़का, खूनी इश्क के बुखार को उतारने में पुलिस वालों का छूटा पसीना

HAJIPUR : 21 दिसंबर कि सुबह सुबह पुलिस को एक सनसनीखेज वारदात की खबर मिली। खबर मिली कि ससुराल में एक लड़की की हत्या कर लाश गायब कर दिया गया है। पातेपुर बली गांव थाना क्षेत्र के भुसाहि में वारदात वाली जगह जब पुलिस पहुंची तो कमरे में खून बिखरा पड़ा था। वारदात वाली जगह खून के छींटे किसी अनहोनी का साफ-साफ इशारा कर रहे थे। लेकिन लाश का कहीं कोई अता पता नहीं था। 

बताया गया कि एक 19 साल की नवविवाहिता की हत्या कर शव को गायब कर दिया गया है आरोप ससुराल वालों पर था। मामला कत्ल और लाश के गायब कर देने जैसे संगीन वारदात का था तो मौके पर पहुंची पुलिस ने फॉरेंसिक टीम और डॉग स्क्वायड को बुलवा लिया। वारदात वाली जगह बिखरे खून से जांच की शुरुआत हुई तो फॉरेंसिक टीम ने मौके पर मौजूद खून की जांच कर बताया कि इंसानी खून है।यानी कत्ल के शक को यकीन का जामा मिलता जा रहा था। लेकिन पुलिस ने जब तक 30 आगे बढ़ाएं तो मौके पर कई ऐसी चीजें सामने आई जिसने पुलिस को चकरा दिया। दरअसल कत्ल की इस वारदात के कई किरदार पुलिस के सामने आए जिसको लेकर पुलिस जब जांच करने आगे बढ़ी तो मामले में कई पेच नजर आने लगे। 

दरअसल कत्ल की यह कहानी अवधेश कुमार नाम के एक शख्स की पत्नी शुरू हुआ अवधेश की पत्नी नीतू अचानक अपने ससुराल से गायब मिले थे और ससुराल के उसके कमरे में खून बिखरा पड़ा मिला था। मुजफ्फरपुर , तुर्की की रहने वाली नीतू की शादी जून 2021 में वैशाली जिले के भुसाहि के रहने वाले अवधेश से हुई थी। शादी के कुछ दिनों बाद ही अवधेश दिल्ली नरेला में फैक्ट्री में अपनी नौकरी पर चला गया था।घर में पत्नी नीतू अवधेश के छोटे भाई राकेश और अकेली मां प्रमिला देवी रहते थे

21 दिसंबर की सुबह नीतू  ससुराल से हुई गायब

21 दिसंबर की सुबह सुबह नीतू के अपने ससुराल से गायब होने और कमरे में कत्ल का सीन किसी अनहोनी की तरफ साफ साफ इशारा कर रहा था। अनहोनी वारदात की खबर फैली तो नीतू के मायके वाले ससुराल पहुंचे और गायब लड़की नीतू के पिता ने आनन-फानन में बलिगांव थाने में अवधेश की मां और अवधेश के भाई सहित कई लोगों पर हत्या और लास्ट गायब कर देने की एफआईआर दर्ज करा दी

पुलिस ने शुरू की जांच

बारी पुलिस की थी। पुलिस ने जांच शुरू की। अगले दिन 22 दिसंबर को मौके पर फॉरेंसिक टीम और डॉग स्क्वायड की टीम को भी बुलाया गया। फॉरेंसिक टीम ने कमरे में बिखरे खून की इंसानी खून होने की पुष्टि की एकबारगी लगने लगा कि यहां कोई हत्या जैसी वारदात कोई है। 

लेकिन पुलिस को एक चौंकाने वाली बात की जानकारी हुई पता चला कि गायब लड़की नीतू एक जैकेट पहना करती थी जो कमरे से गायब था। दो कमरे के घर में बहू अकेली एक कमरे में सोई थी जबकि अवधेश की मां और नीतू के साथ दरवाजे पर ही अलग बिस्तर पर सो रही थी बावजूद इसके वारदात की भनक नहीं मिलने से पुलिस का शक गहरा हुआ। 

गायब मोबाइल से मिली अहम जानकारी

जांच आगे बढ़ी तो पुलिस को एक अहम सुराग यही मिला की वारदात वाली जगह से नीतू का मोबाइल भी गायब है मोबाइल की तफ्तीश शुरू हुई तो अगले एक-दो दिनों में कुछ ऐसी बातें सामने आई जिससे पुलिस कत्ल के इस वारदात के नजदीक पहुंचती दिखी पता चला कि वारदात के कुछ दिनों पहले से नीतू के मोबाइल पर किसी अनजान शख्स से लगातार बात हो रही थी नंबर नीतू के मायके मुजफ्फरपुर के आसपास के इलाके का ही था।

जिंदा थी नीतू

मोबाइल नंबर के सूत्र की पड़ताल करती पुलिस जब मुस्तफागंज मुजफ्फरपुर पहुंची तो पुलिस यह देख हैरान रह गई की पुलिस जिस अनजान शख्स की तलाश करती करती वैशाली से मुजफ्फरपुर पहुंची थी उस अनजान शख्स के साथ वह लड़की भी मौजूद थी जिसके कत्ल की पड़ताल पुलिस पिछले 48 घंटों से कर रही थी।

आशिकी में रची गई थी पूरी साजिश

गायब लड़की नीतू और इस अनजान युवक की गिरफ्तारी के बाद जो खुलासे हुए हैं वह वाकई बेहद हैरान करने वाला था। खुलासा हुआ कि अनजान शख्स कोई और नहीं नीतू का आशिक है और नीतू ने अपने पति और ससुराल से पीछा चुरा कर अपने प्रेमी के साथ भागने के लिए अपने फर्जी कत्ल की एक कहानी रची थी।

ब्लड बैंक से खून खरीद लाया गया था

मर्डर के जिस scene ने पुलिस को परेशान कर रखा था उसको लेकर भी बेहद हैरान करने वाला खुलासा हुआ की। फर्जी कत्ल की सच्ची कहानी दिखाने के लिए नीतू के आशिक ने मुजफ्फरपुर के ब्लड बैंक से इंसानी खून खरीदा था। प्लान के मुताबिक वारदात वाली रात नीतू ने अपने ससुराल में किसी को अपने प्लान की भनक न लगने नहीं दी।  फर्जी कत्ल की कहानी रचने से ठीक पहले तक नीतू दिल्ली में बैठे अपने पति से लगातार फोन पर बात करती रही और देर रात 10:00 बजे के आसपास पति को नींद आने की बात कहकर फोन काटा और सोने चली गई। देर रात ढलते ही नहीं तूने अपने आशिक सुनील को अपने ससुराल बुलाया और फर्जी कत्ल के पूरे कहानी को रचा और सुनील के साथ फरार हो गई थी। सुनील रिश्ते में नीतू के बड़े भाई का साला भी है जो मुजफ्फरपुर में रहकर ड्राइवर का काम करता है। 

पत्नी के प्रेम के बारे में नहीं हुआ शक

घटना को लेकर वारदात वाली रात घर में मौजूद अवधेश की मां और नीतू की सास ने बताया कि उन्हें अपने बहू के प्रेम प्रसंग या भागने की किसी साजिश जैसे किसी बात का कभी कोई अंदेशा नहीं रहा वारदात वाली रात भी उन्हें किसी तरह की कोई भनक नहीं मिली। वही पति अवधेश ने बताया कि उसे भी अपनी पत्नी के चरित्र पर या ऐसी किसी बात का कभी कोई शक नहीं था वारदात वाली रात भी 9:00 बजे से लेकर रात के 10:00 बजे तक दोनों पति पत्नी अपने फोन पर काफी देर तक बात की थी और उसे जरा भी अंदेशा नहीं था

फिलहाल आरोपी प्रेमी प्रेमिका नीतू एयर सोनू पुलिस कस्टडी में है

चूंकी वारदात के बाद नीतू के पिता ने दहेज़ हत्या के लिए IPC की धारा 304 में नीतू के ससुराल वालो के खिलाफ FIR दर्ज कराई थी। अब पुलिस ने उसी FIR को 420 , 194  और 120 (B ) की धारा में बदल दिया है। न्यायलय ने FIR की धाराओं में हुए बदलाव तक आरोपी को पुलिस कस्टडी में रखने का आदेश दिया है, जिसकी वजह से आरोपी प्रेमी प्रेमिका पिछले 25 दिसंबर से लगातार पुलिस की कस्टडी में है। न्यायलय से धारा में बदलाव की इजाजत के बाद  दोनों को जेल भेजा जाएगा। 

REPORTED BY VIKASH MAHAPATRA

Find Us on Facebook

Trending News