पंचायत चुनाव में फिर बहा खून : कुख्यात अपराधी कल्लू खां कर रहा था पत्नी के पक्ष में प्रचार, बदमाशों ने गोलियों से किया छलनी

पंचायत चुनाव में फिर बहा खून : कुख्यात अपराधी कल्लू खां कर रहा था पत्नी के पक्ष में प्रचार, बदमाशों ने गोलियों से किया छलनी

SASARAM : बिहार पंचायत चुनाव लगातार हिंसक होता जा रहा है। एक दिन पहले जहां पूर्णिया मे जिला पार्षद की हत्या कर दी गई थी, वहीं अब रोहतास जिले के शिवसागर में भी एक हत्या की घटना सामने आई है। यहां अपनी पत्नी के लिए चुनाव प्रचार करने पहुंचे कुख्यात अपराधी कल्लू खां की गोली मारकर हत्या कर दी। बदमाशों ने इस दौरान कल्लू खां को 10 गोलियां मारी, जिसके कारण मौके पर उसने दम तोड़ दिया। 

घटनास्थल शिवसागर थाना क्षेत्र के कैथी गांव में लोगों की भारी भीड़ जुट गई। यहां रहनेवाले लोगों का कहना है कि कल्लू खां इस बार कोनार पंचायत से मुखिया पद पर अपनी पत्नी रानी खातून को चुनाव लड़वा रहा था। यहां सोमवार को चुनाव होना है। जिसके लिए वह हर दिन पत्नी को बाइक पर बैठाकर चुनाव प्रचार के लिए लेकर आता था। कल्लू खां के दुश्मनों को इसकी भनक लग चुकी थी। शनिवार की सुबह छह बजे जैसे ही वह पत्नी के साथ बाइक पर यहां पहुंचा, पहले से इंतजार कर रहे तीन बदमाशों ने उसपर गोलियां चलानी शुरू कर दी। इस दौरान कल्लू को 10 गोली मारी गई, जिससे उसकी मौके पर ही मौत हो गई।  

इधर, घटना की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंच गई। पुलिस के अनुसार, हत्या के कारणों का पता लगाया जा रहा है। कल्लू खां आपराधिक प्रवृति का था। कुछ लोगों से पूछताछ की जा रही है। हत्यारों की गिरफ्तारी के लिए छापेमारी चल रही है।

पति के शव के साथ पत्नी का धरना

कल्लू की पत्नी रानी खातून शव को पोस्टमॉर्टम के लिए उठने नहीं दे रही है। उसका कहना है कि गांव के ही इजहार ने हत्या की है। वह गांव में ही छिपा है। पुलिस जब तक उसे गिरफ्तार नहीं करती तब तक वह लाश नहीं उठने देगी।

हत्या, डकैती, अपहरण के दो दर्जन मामले दर्ज

कुख्यात कल्लू खां उर्फ फिरोज खां कैमूर जिले के सिकठी गांव का रहने वाला था। उसके ऊपर रोहतास व कैमूर में दो दर्जन मामले दर्ज थे। पुलिस से बचने के लिए वह रोहतास जिला के शिवसागर थाना क्षेत्र अंतर्गत कैथी गांव में रहता था। 2007 में पुलिस हिरासत से फरार हुआ कल्लु दो दर्जन से ज्यादा अपराधिक घटनाओं को अंजाम दे चुका था। इसमें हत्याएं, बैंक डकैती और अपहरण के मामले भी शामिल हैं। 

शिवसागर प्रखंड के कोनार पंचायत के वार्ड सदस्य तारा खातून के पुत्र खुर्शीद की हत्या मामले में 2018 में गिरफ्तार हुआ था, अभी जमानत पर बाहर था। इसके पहले कल्लू तेलड़ा के नरोसह मुसहर, कैथी के जगदेव साह व शिवप्रसाद साह समेत आधा दर्जन लोगों की हत्या समेत अन्य घटनाओं को अंजाम दे चुका है। सासाराम में भी वर्चस्व स्थापित करने को लेकर कपड़ा व्यवसायी समेत अन्य को भी गोली मारी थी। लगभग 20 कांडों में कल्लू वांछित था।


Find Us on Facebook

Trending News