बीआरसी बना अखाड़ा, वरीय कनीय के प्रभार को लेकर दो शिक्षकों के बीच चले लात-घूंसे, वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल

बीआरसी बना अखाड़ा, वरीय कनीय के प्रभार को लेकर दो शिक्षकों के बीच चले लात-घूंसे, वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल

MOTIHARI: मोतिहारी में सोशल मीडिया पर बीआरसी में वरीयता को लेकर दो शिक्षक की आपस मे भिड़ने का वीडियो सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है ।वायरल वीडियो आदापुर बीआरसी का बताया जा रहा है ।बीआरसी में ही वरीयता को लेकर दो शिक्षक के बीच बीईओ के सामने ही जमकर लात घूंसे चलने के साथ साथ पटका पटकी होने लगी ।कुछ देर के लिए बीआरसी अखाड़ा बन गया ।कड़ी मशक्कत के बाद शिक्षकों के बीचबचाव से मामला को शांत कराया गया।

सूत्रों की माने तो बीआरसी को अखाड़ा बनता देख बीईओ ने धीरे से बाहर निकलना ही वाजिब समझा। सूत्रों की माने तो जिला में कई प्रखण्ड शिक्षा कार्यालय व जिला शिक्षा कार्यालय के पदाधिकारियो व कर्मियों की मिली भगत से जिला के कई प्रखंडो में स्कूल में वरीय शिक्षक के रहते कनीय शिक्षक एचएम के प्रभार में रहकर मलाई खा रहे है। बिहार सरकार के एक मंत्री व जिला पदाधिकारी के निर्देश के एक वर्ष से अधिक होने के बाद भी जिला के कई प्रखंडो में कनीय शिक्षक वरीय के रहते भी शिक्षा विभाग के मिलीभगत व उच्ची पैरवी के कारण एचएम बने हुए है ।वरीयता को लेकर बीआरसी में दो शिक्षकों के आपस मे भिड़ने की वीडियो वायरल होने पर सोशल मीडिया पर लोग कई सवाल उठा रहे है ।लोग यह भी कहते नहीं थक रहे कि कनीय वरीय की खेल प्रखण्ड से लेकर जिला शिक्षा कार्यालय के लिए दुधारू गाय बना हुआ है ।इस खेल दोनों हाथ से रुपया की उगाही होती है फिर मामला को ठंडा बस्ता में डाल दिया जाता है।

इस मामले को लेकर थाने में शिकायत की गई है। बताया जाता है कि प्रखंड के चैनपुर सोनार टोला स्थित नव सृजित प्राथमिक विद्यालय में एचएम के प्रभार को लेकर महीनों से चले आ रहे विवाद के मामले में जिला शिक्षा कार्यालय के निर्देश के आलोक में बीईओ हरेराम सिंह ने पत्र निर्गत कर वर्तमान प्रभारी एचएम शिवशंकर गिरि व वरीय शिक्षक होने की दावा करने वाली शिक्षिका रिंकी कुमारी को अपनी शैक्षणिक व नियोजन से सम्बंधित कागजातों को तीन दिनों के अंदर उपलब्ध कराने का निर्देश दिया था। उक्त पत्र के आलोक में उभय पक्षों के बीच बीआरसी में ही अपना-अपना दावा संबंधित कागजात जमा करने के दौरान कहासुनी हो गई। फिर तू-तू मैं-मैं होते-होते हिंसक झड़प में तब्दील हो गई। मामले की गंभीरता को देखते हुए बीईओ कार्यालय छोड़ निकलने में ही अपनी भलाई समझे। इस संबंध में आदापुर थानाध्यक्ष संदीप कुमार ने बताया कि मामले में की गई शिकायत के आधार पर जांच की जा रही है।

Find Us on Facebook

Trending News