निजी विद्यालय संचालकों के सब्र का टूटा बांध, 50 फीसदी उपस्थिति के साथ की स्कूल खोलने की मांग

निजी विद्यालय संचालकों के सब्र का टूटा बांध, 50 फीसदी उपस्थिति के साथ की स्कूल खोलने की मांग

KATIHAR : कटिहार में कोविड-19 के नियमों का पालन करते हुए निजी विद्यालयों के ग्रुप ऑफ़ डायरेक्टर की बैठक प्रोग्रेस पब्लिक स्कूल रामपारा में आयोजित की गई। बैठक में सरकार द्वारा कोरोना को लेकर विद्यालयों को बंद करने को लेकर किए गए फैसले पर पुनर्विचार करने की अपील की गई। बैठक की जानकारी देते हुए संघ के सदस्य ध्रुव चंद्र झा ने बताया कि कोरोना विद्यालय से नहीं फैल रही है। विद्यालय में शिक्षक एवं छात्र अनुशासन से रहते हैं और कोविड19 के तमाम गाइडलाइन का पालन भी करते रहे हैं। 

इसलिए विगत 3 सालों से बच्चों की भविष्य को इस तरह बर्बाद ना करते हुए 50% उपस्थिति के साथ विद्यालय खोलने की अनुमति दी जाए। उन्होंने कहा कि सरकार द्वारा कोविड-19 के गाइडलाइन का पालन करते हुए जो चीज खुले रखे गए हैं। ऐसे कोई भी जगह पर इस तरह के गाइडलाइन का पालन नहीं हो रहा है। हर चौक चौराहों एवं बाजारों पर भीड़ लगी रहती है। जिससे कोरोना फेल रहा हैं। ऐसे में सिर्फ विद्यालय बंद करा कर कोविड-19 को नहीं रोका जा सकता है। 

इसलिए सरकार को इस कठिन दौर में अभिभावकों के सहमति के साथ 50 प्रतिशत उपस्थिति के साथ विद्यालय खोलने की अनुमति देनी चाहिए। ताकि छात्रों को जागरूक कर उनके परिवार को भी कोरोना के प्रति जागरूक करते हुए उनकी पढ़ाई भी चालू रखी जा सके। उन्होंने कहा कि अगर सरकार द्वारा 21 जनवरी तक विद्यालय खोलने पर विचार नहीं करती है तो प्राइवेट स्कूल चरणबद्ध तरीके से आंदोलन करेगी। बच्चों के भविष्य को लेकर अभिभावकों से भी सहयोग लिए जाएंगे।


Find Us on Facebook

Trending News