बिहार में जीजा-साले के दौर हो गई वापसी, पहले लालू के काल में यही दौर था, अब फिर से जनता देखेगी वही पुराना समय

बिहार में जीजा-साले के दौर हो गई वापसी, पहले लालू के काल में यही दौर था, अब फिर से जनता देखेगी वही पुराना समय

PATNA : बिहार के नए पर्यावरण मंत्री तेज प्रताप यादव ने अपने जीजा को बैठक में शामिल किया, उसके बाद कार्तिक मास्टर के मुद्दे पर पहले से ही विवादों में घिरी राजद के खिलाफ भाजपा को बैठ बिठाए एक मुद्दा मिल गया है। भाजपा ने लालू परिवार पर सीधा हमला करते हुए कहा है कि बिहार मे एक बार फिर से जीजा-साले के दौर की वापसी होने जा रही है।

बिहार सरकार में पूर्व मंत्री हो चुके जनक राम ने तेज प्रताप की बैठक में मीसा भारती की पत्नी को शामिल किए जाने पर सवाल उठाते हुए कहा कि जब बिहार मे लालू प्रसाद की सरकार होती  थी तो उस समय जीजा साले की जोड़ी मशहूर थी। दोनों अपनी सरकार चलाते थे। उस दौर को सभी ने देखा है और आज बिहार का जो हालत है, उसके लिए इन्हीं जीजा साले की जोड़ी को जिम्मेदार माना जाता है। लालू परिवार में यह स्थिति आज भी नहीं बदली है। 

राजद भले ही यह दावा करें कि आज उनकी पार्टी बिहार के विकास के लिए बात करती है। लेकिन कल जिस प्रकार से तेज प्रताप अपने जीजा के साथ नजर आए, उसके बाद ऐसा महसूस होने लगा है कि बिहार में एक बार फिर से जीजा साले के दौर की वापसी तो नहीं हो गई। जनक राम का हमला यहीं पर नहीं रूका, उन्होंने सरकार से पूछा है कि क्या सरकार की मीटिंग में बाहरी लोगों की भी इंट्री की छूट दे दी गई है। क्या नीतीश कुमार जी को यह नजर नहीं आ रहा है। हमारी मांग है कि बिहार के मुख्यमंत्री वाकई प्रदेश की भलाई के बारे में सोचते हैं तो वह तेज प्रताप से पूछें कि क्यों उन्होंने मीटिंग में अपने जीजा को बैठाया।

Find Us on Facebook

Trending News