भागलपुर में CIPET के व्यावसायिक प्रशिक्षण केंद्र की स्थापना को मंत्रिपरिषद की मंजूरी, बोले शाहनवाज - रोजगार की इच्छा रखने वाले युवाओं को बड़ी सौगात

भागलपुर में CIPET के व्यावसायिक प्रशिक्षण केंद्र की स्थापना को मंत्रिपरिषद की मंजूरी, बोले शाहनवाज - रोजगार की इच्छा रखने वाले युवाओं को बड़ी सौगात

PATNA : रोजगार या स्वयं के उद्यम के लिए बढ़िया व्यावसायिक प्रशिक्षण की इच्छा रखने वाले बिहार के युवा- युवतियों को एक बड़ी सौगात मिली है। मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की अध्यक्षता में हुई मंत्रिपरिषद की बैठक में उद्योग विभाग CIPET (Central Institute of Petrochemicals & Engineering Technology) हाजीपुर का व्यावसायिक प्रशिक्षण केंद्र (Vocational Training Centre) सिल्क सिटी, भागलपुर के को-ऑपरेटिव स्पिनिंग मिल के परिसर में स्थापना के लिए मंजूरी मिली है। इस परियोजना पर राज्य सरकार का अनुमानित व्यय चालिस करोड़, दस लाख, सत्तहतर हजार रुपये होगी। इस राशि का व्यय केंद्र सरकार और राज्य सरकार के द्वारा समानुपातिक आधार पर वहन किया जाएगा। 

भागलपुर में सीपेट के व्यावसायिक प्रशिक्षण केंद्र की स्थापना के लिए मंत्रपरिषद की मंजूरी पर बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने खुशी जाहिर करते हुए कहा कि उद्योग विभाग बिहार में उद्योगों को बढ़ावा देने के साथ राज्य में तकनीकी रुप से प्रशिक्षित और कुशल कार्मिकों की उपलब्धता बढ़ाने को लेकर भी लगातार प्रयत्नशील है। ये संस्थान बिहार के युवा- युवतियों को रोजगार या स्वरोजगार हेतु तकनीकी दक्षता हासिल करने का नया अवसर देगा जिससे उन्हें अपने भविष्य को संवारने में मदद मिलेगी।

सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि राज्य में औद्योगीकरण और रोजगार सृजन के लिए बिहार का उद्योग विभाग बहुत तेजी से काम कर रहा है। बिहार की सरल औद्योगिक नीति और उद्योग विभाग की तरफ से लाए गए कई निवेश प्रोत्साहन योजनाओं की वजह से राज्य में औद्योगिक ईकाई लगाने को लेकर गतिविधियां काफी बढ़ गई है। ऐसे में बिहार में तेजी से बढ़ रहे उद्योगों की जरुरतों को पूरा करने के लिए तकनीकी रुप से दक्ष कार्मिकों की उपलब्धता बढ़ाने पर भी निरंतर काम करना होगा। ऐसी जरुरतों को पूरा करने के लिए, साथ ही बिहार के युवा-युवतियों को रोजगार या स्वरोजगार के लिए तैयार करने में इस तरह के व्यावसायिक प्रशिक्षण केंद्र काफी कारगर साबित होंगे।

भागलपुर में स्थापित होने वाले सीपेट के व्यावसायिक प्रशिक्षण केंद्र में प्लास्टिक निर्माण तकनीक के अतिरिक्त कौशल विकास और अन्य रोजगार परक पाठ्यक्रमों का संचालन होगा और इसका लाभ अंग प्रदेश के साथ पूरे राज्य के हजारों युवा-युवतियों को मिलेगा।

बिहार के उद्योग मंत्री सैयद शाहनवाज हुसैन ने कहा कि हम लगातार देश के अलग अलग हिस्सों में उद्योग संघों से मिलकर उन्हें बिहार में उद्योग के अवसर का लाभ उठाने के लिए कह रहे हैं। इसके अच्छे परिणाम भी हमें मिल रहे हैं। बहुत सी औद्योगिक ईकाईयां अपने विस्तार के लिए बिहार में निवेश की इच्छा जाहिर कर चुकी हैं। निश्चित तौर पर आने वाले वक्त में बिहार के युवा-युवतियों के लिए ‘वर्क फ्रॉम होम’ के हजारों अवसर होंगे । बस हमें उन्हें तकनीकी प्रशिक्षण या उनका कौशल विकास कर  भविष्य की संभावनाओँ के लिए तैयार करना होगा।

Find Us on Facebook

Trending News