1947 की आजादी को भीख बताना देशद्रोह, राजद-कांग्रेस ने की मांग - कंगना से अविलंब पद्मश्री पुरस्कार वापस ले सरकार

1947 की आजादी को भीख बताना देशद्रोह, राजद-कांग्रेस ने की मांग - कंगना से अविलंब पद्मश्री पुरस्कार वापस ले सरकार

GAYA : देश की आजादी को भीख बताना अभिनेत्री कंगना रानौत के लिए भारी पड़ता नजर आ रहा है। देश के कई हिस्सों में पद्मश्री से सम्मानित एक्ट्रेस के लिए विरोध शुरू हो गया है। इस कड़ी में बिहार के गया जिले में भी कंगना के खिलाफ विरोध शुरू हो गया है। राजद- कांग्रेस की तरफ के कंगना के बयान को देशद्रोह के साथ 

 गया अखिल भारतीय कांग्रेस कमिटी के सदस्य सह क्षेत्रीय प्रवक्ता बिहार प्रदेश कांग्रेस कमिटी प्रो विजय कुमार मिठू, पूर्व विधायक मो खान अली, जिला उपाध्यक्ष युगल किशोर सिंह, राम प्रमोद सिंह, जिला महासचिव विद्या शर्मा, अमरजीत कुमार, टिंकू गिरी, अभिषेक श्रीवास्तव,अशरफ इमाम, फिरोज रजा, विनोद बनारसी, राजेश्वर पासवान, सुरेन्द्र मांझी, अरुण कुमार पासवान आदि ने कहा कि  भाजपा, आर एस एस पोषित बड़बोली वॉलीवुड अभिनेत्री कंगना राणावत को मोदी सरकार द्वारा पद्मश्री पुरस्कार मिलते ही उसने खरखाही में 1947 की आजादी को भीख बताया तथा असली आजादी 2014 में मिलने जैसे खटिया बयान पूरी तरह  देशद्रोह है।

नेताओं ने केंद्र सरकार से अविलंब कंगना राणावत पर देशद्रोह का मुकदमा दर्ज करने, तथा उन्हें दी गई पद्मश्री पुरस्कार को अविलंब वापस लेने की मांग की है।  नेताओं ने कहा कि जब से देश में भाजपा सरकार सत्ता में आई है तब से कभी राष्ट्रपिता के हत्यारे को देशभक्त कहने वाले, 1947 की आजादी को भीख बताने वाले, भगत सिंह, चन्द्र शेखर आजाद, मंगल पांडे आदि के कुर्बानी को तिरस्कार करने वालो को सत्ता में बैठे लोग महिमा मंडित करने को आखिर क्या कहा  जाएगा पागलपन या देशद्रोह ।

देश की आजादी को भिक्षा के रूप में मिली आजादी कहना देश का अपमान

वहींराजद नेता विनय कुशवाहा ने प्रेस विज्ञप्ति जारी कर कहा कि हाल के दिनों में पद्म श्री सम्मान से विभूषित अभिनेत्री कंगना राणाउत का एक टीवी चैनल टाइम नाउ के इंटरव्यू में देश की आजादी को अंग्रेजों द्वारा भीख में मिली हुई आजादी कहना देश का अपमान है। ऐसी अभिनेत्री जिसे देश के बारे में कोई जानकारी नहीं हजारों की संख्या में महात्मा गांधी ,चंद्रशेखर आजाद ,सुभाष चंद्र बोस खुदीराम बोस ,जैसे महापुरुष देश की आजादी के लिए अपनी शहादत दी और ऐसी अभिनेत्री जिन्हें देश की आजादी से कोई सरोकार नहीं इस तरह का विवादित बयान देश हित में नहीं है। और ऐसी अभिनेत्री को पदम श्री सम्मान से विभूषित किया जा रहा है जो देश के लिए दुर्भाग्यपूर्ण है। उन्होने मांग की है कि  कंगना राणावत पर अभिलंब देशद्रोह का मुकदमा दर्ज हो एवं पदम श्री सम्मान वापस लिया जाए।

Find Us on Facebook

Trending News