केनरा बैंक ने उड़ाई निर्वाचन आयोग के आदेश की धज्जियां, पटना में चुनाव के दिन भी खुले रहे बैंक, मतदान करने से वंचित हुए बैंकर्स

केनरा बैंक ने उड़ाई निर्वाचन आयोग के आदेश की धज्जियां, पटना में चुनाव के दिन भी खुले रहे बैंक, मतदान करने से वंचित हुए बैंकर्स

पटना. नगर निकाय चुनाव में केनरा बैंक ने अपने कई कर्मियों को मतदान करने से वंचित कर दिया है. बुधवार को बैंक में सार्वजनिक अवकाश होने के बाद भी बैंक कर्मियों को जबरन फोन कर बुलाने की शिकायतें आई. इससे बैंक कर्मी मतदान करने से वंचित रह गए जबकि पहले ही सार्वजनिक अवकाश की घोषणा हो चुकी थी. दरअसल, नगर निकाय चुनाव के लिए पटना में बुधवार को मतदान हो रहा है. निर्वाचन अधिनियम के प्रारूपों के अनुरूप इस दिन पटना सहित राज्य में जहाँ जहाँ निकाय चुनाव हो रहा है वहां सार्वजनिक अवकाश घोषित है. लेकिन केनरा बैंक ने आदेशों की धज्जियां उड़ा दी और जबरन कर्मियों को बुलाने की शिकायत सामने आई. 

बैंक कर्मियों ने नाम सार्वजनिक नहीं करने की शर्त पर बताया कि उन्हें जबरन फोन कर बुलाया गया है. इस वजह से वे मतदान भी नहीं कर पाए हैं. यहां तक कि इसकी शिकायत पटना के जिलाधिकारी सहित निर्वाचन आयोग से भी की गई है. वार्ड संख्या 25 के वार्ड पार्षद सदस्य मुकेश कुमार वर्मा और लोहानीपुर के पार्षद सदस्य ने इसे लेकर शिकायत की है. 

उन्होंने अपनी शिकायत में लिखा है कि ऐसा मुझे मालूम चला है कि सामान्य प्रशासन विभाग बिहार सरकार द्वारा नगरपालिका चुनाव के प्रारब्ध हेतु जारी की गई अधिसूचना 33416 दिनांक 27.12.2022 के विधिविरुद्ध, केनरा बैंक , एग्जिबिशन रोड के लव-कुश टावर में स्थित प्रमुख कार्यालय के शीर्षाथ अधिकारियों द्वारा पटना नगरनिगम के स्थित बैंक के प्रमुख तथा जोनल कार्यालयों में कार्यरत कर्मियों को जबरन कॉल करके दिनांक 28.12.2022 को उन कार्यालयों में कार्य करने तथा कार्यालयों को खोले जाने हेतु जबरन दबाव डालकर बुलवाया जा रहा है. जबरन दबाव के शिकार ऐसे बैंक कर्मी , जो की, मेरे तथा पटना नगरनिगम  के अन्य वार्डों के वोटर भी  है। 

इस प्रकार के विधिविरुद्ध कृत्य से न ही मेरे वोटरों को वोट देने से  वंचित करवाया जा रहा अपितु यह समूचे नगरनिगम चुनाव के विभिन्न पदों के प्रत्याशियों के मतों को भी नुकसान पहुंचाने की साजिश  है।  अतः आपसे करबद्ध आग्रह है कि पूरे मामले की निष्पक्ष जांच करवाने के साथ साथ , इस विषय को शीघ्रता से गंभीरता पूर्वक अवलोकित करें क्योंकि ऐसा कार्य हमारे देश के संविधान द्वारा एक आम नागरिक को प्रदत्त मताधिकार का हनन है । 

वहीं बैंक कर्मियों ने बैंक कार्यालय से जुडी तस्वीरें भी भेजी जिसमें वे काम करते दिख रहे हैं. कहा जा रहा है कि फोटो 28 दिसम्बर की हैं. इसे लेकर जब केनरा बैंक के महा प्रबंधक श्रीकांत एम बंडीवाड से सम्पर्क किया गया तो उनके एक सहयोगी ने फोन पर कहा कि बैंक बंद है. सिर्फ कुछ कर्मी एक बैठक के सिलसिले में आए हैं. वहीं तस्वीरों में अलग अलग जगहों के कर्मी बैंक में काम करते दिख रहे है.


Find Us on Facebook

Trending News