भोला यादव का मुंह खुलवाने में जुटी सीबीआई : लालू के राजदार ने खोली जुबान तो बिहार की राजनीति में आ जाएगा बवाल

भोला यादव का मुंह खुलवाने में जुटी सीबीआई : लालू के राजदार ने खोली जुबान तो बिहार की राजनीति में आ जाएगा बवाल

NEW DELHI/PATNA : राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद के हनुमान भोला यादव की गिरफ्तारी के बाद बिहार की राजनीति में भूचाल आया हुआ है। खास तौर पर राजद में इस गिरफ्तारी के बाद डर की स्थिति है। इस डर कारण है भोला यादव के पास राबड़ी परिवार के सबसे बड़े विश्वसनीय और राजदार होने का, जिसे अब सीबीआई अगले पांच दिनों में निकलवाने की कोशिश में जुटी है। माना जा रहा है कि अगर भोला यादव की जुबान सीबीआई ने खुलवा दी तो लालू परिवार के दोनों बेटों सहित कई सदस्यों पर कानूनी गाज गिर सकती है। यही कारण है कि जबसे भोला यादव की गिरफ्तारी हुई है, लालू परिवार की तरफ इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी गई। अपने विरोधियों की प्रत्येक बात पर प्रतिक्रिया देने वाले नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव और तेजप्रताप यादव मौन हैं।

तेजस्वी और तेजप्रताप आरोप के दायरे में

जमीन के बदले रेलवे में नौकरी के मामले में लालू प्रसाद, राज्यसभा सदस्य डा. मीसा भारती एवं लालू की एक अन्य पुत्री हेमा यादव समेत 16 आरोपी हैं, जबकि रेलवे होटल निविदा घोटाले में तेजस्वी यादव और तेजप्रताप यादव भी आरोप के दायरे में हैं। आरोप है कि रेल मंत्री रहते हुए लालू प्रसाद ने एक निजी कंपनी को अवैध तरीके से भुवनेश्वर और रांची में रेलवे के होटल चलाने का ठीका दिया था। इसके बदले कंपनी ने पटना में दो एकड़ जमीन दी थी। तेजस्वी इस मामले में जमानत पर हैं। 

हेमा यादव भी दायरे में 

जमीन के बदले रेलवे में नौकरी मामले में एक अन्य आरोपी हृदयानंद चौधरी की गिरफ्तारी से तय माना जा रहा है कि लालू परिवार के कुछ अन्य सदस्य भी इसकी चपेट में आ सकते हैं। हृदयानंद पर नौकरी के बदले लालू की पांचवी बेटी हेमा यादव को पटना के महुआबाग क्षेत्र में महंगी जमीन देने का आरोप है। आरोप है कि जमीन के बदले हृदयानंद ने राजेंद्र नगर में 70 लाख की जमीन हेमा यादव को मुफ्त में दे दिया था। जो बाद में हेमा ने मां राबड़ी देवी के साथ मिलकर राजद नेता अबू दोजाना की कंपनी को 3.50 करोड़ में बेच दिया था। 


Find Us on Facebook

Trending News