बिहार में जश्न : नीतीश सरकार के शराबबंदी के सफलतापूर्वक पांच साल पूरे! सुपौल 1119.24 लीटर अंग्रेजी शराब जब्त

बिहार में जश्न : नीतीश सरकार के शराबबंदी के सफलतापूर्वक पांच साल पूरे! सुपौल 1119.24  लीटर अंग्रेजी शराब जब्त

SUPUOL :  बिहार में पूर्ण शराबबंदी कानून लागू हुए पांच साल हो गए. 2016 में 2 जुलाई के ही दिन सर्वसम्मति से शराबबंदी कानून लागू किया गया था. बिहार में अपराध और घरेलू हिंसा के मामलों को कम करने के मकसद से सूबे के मुखिया नीतीश कुमार ने राजस्व के भारी नुकसान के बावजूद शराबबंदी कानून लागू करने का फैसला लिया था. लेकिन आज पांच साल बाद भी शराबबंदी कानून की सफलता पर विवाद जारी है।

पिछले पांच सालों के आंकड़ों पर अगर नजर डाली जाए तो शायद ही कोई दिन ऐसा होगा जिस दिन राज्य के किसी जिले में शराब की बरामदगी ना हुई हो. राज्य में शराबबंदी होने के बाद से शराब की अवैध बिक्री का धंधा शुरू हो गया है. इस धंधे के संचालन के लिए बकायदा चेन बना हुआ है. इस चेन के सदस्य अलग-अलग लेवल पर काम कर शराबबंदी कानून को धता बता कर लोगों को शराब परोसने में जुटे हुए हैं.

इधर, ग्रामीण इलाकों में छिप कर देसी शराब बनाने और पिलाने का धंधा जारी है. इस शराब की वजह से कई बार लोगों की जान जा चुकी है. ताजा मामला जिले के त्रिवेणीगंज थाना से आ रही है जहां धान के भूसे से ढंके रजिस्ट्रेशन नंबर बीआर 10- 9453 पिकअप सहित को शराब से भरे पुलिस ने जप्त कर लिया जबकि इस गाड़ी में हिमाचल प्रदेश निर्मित अंग्रेजी शराब निर्मित अंग्रेजी रॉयल प्लेयर का 750 एमएल वाला 504 बोतल एवं 375ml वाला 252 बोतल फुल 756 कार्टन सहित पिकअप वैन को जब्त किया है वहीं दूसरी ओर हरिहरपट्टी वार्ड नंबर 8 स्थित योगेंद्र मंडल की घर में पलंग के नीचे छुपा कर रखा 180 एमएल वाला 1343 बोतल 750ml 516 बोतल  375ml वाला 48 बोतल जब्त किया है। 

वहीं थानाध्यक्ष संदीप कुमार सिंह ने बताया कि गुप्त सूचना के आधार पर दोनों जगह पर छापामारी कर कुल 1119.24  लीटर अंग्रेजी शराब जब्त किया गया है। इस शराब के अवैध कारोबार में संलिप्त वाहन मालिक भागलपुर जिले की मंदरोजा निवासी कन्हैया मिश्रा व त्रिवेणीगंज थाना क्षेत्र के लतोना दक्षिण निवासी भूषण यादव अवैध शराब कारोबार को संरक्षण देने वाला संरक्षणकर्ता कुशवाह निवासी मुन्ना यादव इस अवैध व्यवसाय के संचालक हरिहर पट्टी वार्ड नंबर 8 निवासी विनोद मंडल और इसकी पत्नी रिंकू देवी एवं अन्य अज्ञात सम्मिलित कारोबारी जो बाहर से अवैध शराब लाकर बेचने का कारोबार करते हैं,उनके विरोध थाना कांड संख्या 202 / 2021 केस दर्ज कर अनुसंधान जारी कर दिया है। 

हद तो इस बात की है इन शराब कारोबारी में कोई अभी गिरफ्तार नहीं हुए हैं सुशासन बाबू के लाख दावे करने के बावजूद शराबबंदी कानून को लोग ठेंगा दिखाते नजर आ रहे हैं इसका दोषी कौन है सुशासन बाबू या सुशासन की पुलिस ,आलम यह है की त्रिवेणीगंज थाना प्रभारी कुछ पत्रकार को खबर देना ही नहीं चाहता है इस से आप अंदाजा लगा सकते हैं। 

Find Us on Facebook

Trending News