जातिगत आधार पर हो 2021 की जनगणना, उसके आधार पर बढ़ाया जाए आरक्षण का दायरा : सीएम

जातिगत आधार पर हो 2021 की जनगणना, उसके आधार पर बढ़ाया जाए आरक्षण का दायरा : सीएम

PATNA : मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने 2021 की जनगणना जातिगत आधार पर किए जाने की बात की है। आज सदन में उन्होंने कहा कि आरक्षण का दायरा बढ़ाने के लिए 2021 की जनगणना जातिगत आधार पर होने चाहिए। उन्होंने कहा कि इससे पहले 2011 में जो आर्थिक-सामाजिक सर्वेक्षण करवाया गया था वह उपयुक्त नहीं है। उसमें एक ही जाति का नाम अलग-अलग इलाकों में दिखाया गया है।

सीएम ने कहा कि इसके लिए बिहार के सदन से एक सर्वसम्मत प्रस्ताव केंद्र को भेजा जाए ताकि इस पर केंद्र सरकार भी आगे बढ़े। उन्होंने सदन को जानकारी दी कि अभी तक जो जनगणना होती है उसमें अनुसूचित जाति- जनजाति और धर्म के आधार पर जनगणना तो की जाती है, लेकिन शेष जनगणना जाति के आधार पर नहीं होती है। उन्होंने कहा हम चाहते हैं कि एक बार अगर सही आंकड़े आ गए तो आरक्षण के दायरे को 50 प्रतिशत से अधिक किया जा सकता है।
 
 सवर्णों को 10 प्रतिशत दिए गए आरक्षण को लेकर उन्होंने कहा कि नया जो संविधान संशोधन हुआ है उसमें 10 प्रतिशत आरक्षण अलग से दिया गया है और इसका विरोध नहीं होना चाहिए। क्योंकि इसमें वर्तमान आरक्षण सीमा में किसी भी प्रकार से हस्तक्षेप नहीं किया गया है।

गणेश सम्राट की रिपोर्ट

Find Us on Facebook

Trending News