सोशल मीडिया पर टिप्पणी को लेकर कार्रवाई पर बोले चेतन आनंद, कहा लोगों की स्वतंत्रता का हनन कर रही है सरकार

सोशल मीडिया पर टिप्पणी को लेकर कार्रवाई पर बोले चेतन आनंद, कहा लोगों की स्वतंत्रता का हनन कर रही है सरकार

SHEOHAR : बिहार सरकार द्वारा सोशल मीडिया पर टिप्पणी करने से लेकर कार्रवाई के लिए निर्गत पत्र को लेकर सियासी घमासान मचा हुआ है. इस मामले को लेकर शिवहर के राजद विधायक चेतन आनंद ने नीतीश सरकार पर हमला बोला हैं. पूर्व सांसद आनंद मोहन के बेटे शिवहर विधायक चेतन आनंद ने परिसदन में पत्रकारों से बात करते हुए कहा है कि सरकार अब लोगों की स्वतंत्रता का हनन कर रही है. सबसे बड़ी बात है कि जिन से कुछ हो नहीं पा रहा है उनके खिलाफ लोग कुछ बोल रहे हैं तो उनकी बौखलाहट सामने आ रही हैं. लोकतंत्र में उनके चाहने वाले भी हैं और नहीं चाहने वाले भी हैं. वे चाहते हैं कि सिर्फ इनके चाहने वाले ही लिखें. नीतीश सरकार अब तानाशाही की तरफ जा रही है. लोकतंत्र में सभी लोगों को सामान्य रूप से बोलने का अधिकार है. 

उधर गया में कांग्रेस पार्टी के नेता और कार्यकर्ताओं ने सरकार के इस फैसले के खिलाफ अपने मुंह में काली पट्टी बांधकर  अभिव्यक्ति की आजादी छीनने का विरोध किया. इस अवसर पर उपस्थित अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के सदस्य सह मगध प्रमंडल प्रवक्ता प्रोफेसर विजय कुमार मिट्ठू ,बाबूलाल प्रसाद सिंह, अमरजीत कुमार ,प्रोफेसर अमरेंद्र सिंह मंटू, अमित कुमार उर्फ रिंकू सिंह, विनोद बनारसी  अशोक सिंह ,टिंकू गिरी सुरेंद्र मांझी ,मोहम्मद सरवर खान श्रीकांत शर्मा ,रामप्रवेश सिंह आदि ने कहा कि बिहार सरकार द्वारा पत्र से यह स्पष्ट है कि नीतीश सरकार द्वारा सूबे की जनमानस की अभिव्यक्ति की आजादी छीनना चाहती है. 

पत्र के अनुसार कोई व्यक्ति या संगठन द्वारा अब सोशल मीडिया या इंटरनेट के माध्यम से सरकार ,मंत्री गण ,सांसद विधायक एवं सरकारी पदाधिकारियों के संबंध में टिप्पणियां करना साइबर अपराध की श्रेणी में आएगा तथा वैसे व्यक्ति को 3 वर्ष की सजा निर्धारित किया गया है. 

शिवहर से मनोज और गया से मनोज की रिपोर्ट 


Find Us on Facebook

Trending News