पूर्वी चंपारण के चकिया प्रखंड मुखिया संघ ने BDO की मनमानी के खिलाफ खोला मोर्चा, वरीय अधिकारियों से करेंगे शिकायत

पूर्वी चंपारण के चकिया प्रखंड मुखिया संघ ने BDO की मनमानी के खिलाफ खोला मोर्चा, वरीय अधिकारियों से करेंगे शिकायत

MOTIHARI: बिहार में पंचायत राज के अधिकारों में अफसर रोड़ा अटका रहे. जिस वजह से विकास के कार्य प्रभावित हो रहे। सूबे में अफसरशाही और भ्रष्टाचार इस कदर हावी है कि मुखिया परेशान हो उठे हैं। विवश होकर पूर्वीचंपारण के चकिया प्रखंड के मुखिया संघ ने बीडीओ के खिलाफ बगावत कर दिया है। साथ ही आरोप लगाया है कि अगर वे विकास कार्यों में बाधक बनते हैं तो उच्च अधिकारियों से शिकायत की जायेगी। 

बीडीओ के खिलाफ मोर्चा 

पूर्वी चंपारण जिले के चकिया प्रखंड के मुखिया संघ ने बिगुल फूंक दिया है. बैठक में मुखिया संघ की तरफ से चर्चा की गई कि चकिया के प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं सफेदपोश नेता पंचायतों के विकास कार्य को बाधित कर रहे हैं. 9 माह में पंचायत में कोई विकास के कार्य नहीं हुए हैं. जिस वजह से प्रखंड के सभी मुखिया परेशान हैं. प्रखंड मुखिया संघ के अध्यक्ष शशि भूषण जी के अध्यक्षता में तीन निर्णय लिये गये. 

वरीय अधिकारियों से करेंगे शिकायत 

चकिया मुखिया संघ की बैठक में पंचायतों के रुके हुए विकास कार्य को आगे बढ़ाने का निर्णय लिया गया है. बैठक में प्रखंड विकास पदाधिकारी के द्वारा बिना पैसा लिए कोई कार्य नहीं किए जाने पर चर्चा की गई.कहा गया कि शौचालय कार्य प्रबंध समिति का गठन बगैर पैसा के नहीं किया जा रहा है.जनप्रतिनिधियों के अधिकार को समाप्त करते हुए मनमाने ढंग से पंचायतों में कार्य किया जा रहा है. बैठक में सर्वसम्मति से निर्णय लिया गया कि अगर बीडीओ बाज नहीं आते हैं तो उच्चाधिकारियों से इस बारे में अवगत कराया जाएगा.

Find Us on Facebook

Trending News